दाे माह चुनौतीपूर्ण, जांच के लिए प्राइवेट लैब को कर सकते हैं अधिग्रहित : गौबा , June 12, 2020 at 06:02AM

कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्य से कहा है कि वे कोरोना जांच सुविधाएं बढ़ाने प्राइवेट लेबोटरीस को अधिग्रहीत कर सकते हैं। क्योंकि अगले 2 महीनों में कोविड-19 के रोकथाम, बचाव और इलाज को चुनौतीपूर्ण रहेगा। वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए सभी राज्यों के मुख्य सचिवोें और स्वास्थ्य सचिवों के साथ गौबा ने कोरोना संक्रमण और जनसामान्य पर प्रभाव को लेकर राज्यवार समीक्षा की।
कैबिनेट सचिव ने राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने और स्वास्थ्य सेवाओं के अपग्रेडेशन पर विशेष बल दिया है। कैबिनेट सचिव ने संक्रमण के लक्षण दिखते ही तत्काल स्वास्थ्य परीक्षण और इलाज करने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी अस्पतालों में कोरोना के इलाज के लिए आने वाले लोगों को सही जानकारी देने की व्यवस्था सुनिश्चित करने तथा अस्पताल में पहुंचने वाले मरीजों का शीघ्र एवं सही इलाज की समुचित व्यवस्था करने को कहा है। गौवा ने क्वारिन्टाइन सेंटरों में समुचित व्यवस्था, जिलों में कोविड अस्पताल, प्राइवेट अस्पतालों में कोरोना के इलाज, प्रवासी श्रमिकों को रोजगार, सार्वजनिक यातायात में सावधानी सहित अन्य मुद्दों पर व्यापक चर्चा की।

उन्होंने अस्पतालों में आक्सीजन सप्लाई, पीपीई किट, डॉक्टर, स्टॉफ एवं नर्सिंग सेवाओं की क्षमता बढ़ाने पर भी जोर दिया है। उन्होंने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रालयों के अधिकारियों में बेहतर समन्वय रखने की भी बात कही। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में छत्तीसगढ़ से स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक सिंह और नगरीय विकास विभाग के सचिव डी अलरमेलमंगई भी शामिल हुई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2AX62xJ

0 komentar