शांत हुए मरवाही के कांग्रेसी, सीएम बोले- किसी के आने से किसी का कद नहीं घटेगा , June 13, 2020 at 06:22AM

पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के निधन के बाद मरवाही विधानसभा सीट पर उपचुनाव की सुगबुगाहट शुरु हो गई है। लेकिन इस उपचुनाव के पहले ही मरवाही में राजनीतिक उठापटक भी शुरू हो गई है। अजीत जोगी के करीबी रहे ज्ञानेन्द्र उपाध्याय के कांग्रेस प्रवेश के बाद स्थानीय नेताओंने इस्तीफा देना शुरु कर दिया था।
इसके बाद सीएम भूपेश ने सभी नेताओं को रायपुर तलब किया था। शुक्रवार को मरवाही के नेताओंने जिलाध्यक्ष मनोज गुप्ता के साथ सीएम से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा। सभी की बातों को सुनने के बाद सीएम ने सभी को एकजुट होकर काम करने की नसीहत दी। सीएम ने कहा कि सभी नेताओं का महत्व है। किसी के आने से किसी का कद कम नहीं हो जाएगा इसलिए सब एक साथ मिलजुलकर काम करो। सीएम की समझाइश के बाद सभी नेता मरवाही उपचुनाव में कांग्रेस को जिताने के संकल्प के साथ वापस लौट गए। बताया गया है कि जिलाध्यक्ष को दिया गया इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया है। कांग्रेस उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन ने कहा कि दूसरे दल के नेताओंके प्रवेश के दौरान इस तरह की नाराजगी रहती है लेकिन सब कुछ ठीक हो गया है। कहीं किसी का काेई विराेध नहीं है।

अजीत जोगी की विचारधारा ही चुनाव लड़ेगी : अमित
इधर अमित जोगी ने कहा कि मरवाही से कोई और नहीं केवल और केवल मरवाही के कमिया नंबर 1 अजीत जोगी ही चुनाव लड़ेंगे। वे अमर हैं। उनकी जगह कोई और नहीं ले सकता। इससे ज्यादा मैं और कुछ नहीं कह सकता। अमित ने कहा कि यह राजनीति की बातें करने का समय नहीं है। फिलहाल राजनीतिक प्रश्नों का जवाब नहीं दूंगा। पिताजी की आत्मकथा का प्रकाशन जल्द से जल्द कराने की कोशिश है। पिता की विचारधारा और छत्तीसगढ़ के प्रति उनकी सोच को कैसे गांव-गांव तक पहुंचा सकूं, अब यही मेरी प्राथमिकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2B09R5g

0 komentar