इंग्लिश मीडियम स्कूल में प्रवेश की प्रक्रिया आज से , June 15, 2020 at 05:54AM

जिले के पहले सरकारी अंग्रेजी मीडियम स्कूल में प्रवेश की प्रक्रिया 15 जून सोमवार से शुरू होगी। इस स्कूल को नवीन हायर सेकंडरी स्कूल भवन में संचालित किया जाएगा।स्कूल में वर्चुअल कक्षाएं 15 जुलाई से प्रारंभ होंगी। इसे देखते हुए प्रवेश के दौरान विद्यार्थियों के अभिभावकों से यह सहमति पत्र लिया जाएगा कि वे बच्चे को घर में पढ़ाई व वर्चुअल कक्षा के लिए मोबाइल और डाटा उपलब्ध कराएंगे।

वहीं प्राथमिक एवं माध्यमिक स्तर की कक्षाओं के लिए कक्षा की अवधि में विद्यार्थियों के कोई न कोई अभिभावक उनके साथ उपस्थित रहेंगे। ताकि शिक्षक द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार वे विद्यार्थियों की गतिविधि करा सकें।

प्रवेश के समय यह भी बताया जाएगा कि विद्यार्थियों की वर्चुअल कक्षा में उपस्थिति 70 प्रतिशत से कम रहती है तो उसका नाम स्कूल से काटा जा सकेगा। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने इस संबंध में कलेक्टर को विस्तृत दिशा-निर्देश दिए हैं। शिक्षा विभाग के सहायक संचालक एमके गुप्ता ने बताया कि अंग्रेजी मीडियम स्कूल में कक्षा 1 से लेकर 12वीं तक की पढ़ाई होगी।
अंग्रेजी के साथ हिंदी माध्यम स्कूल भी संचालित होगी, लेकिन दो पाली में: नए अंग्रेजी माध्यम स्कूल में शिक्षकों की नियुक्ति और विद्यालयों में प्रवेश की प्रक्रिया 30 जून तक पूर्ण करने निर्देश दिए गए है। इस भवन में पूर्व में हिंदी मीडियम की कक्षा संचालित की जा रही थी।
लेकिन इसे बंद नहीं किया जाएगा। यहां सुबह के पाली में अंग्रेजी व दूसरे यानी दोपहर की पाली में हिंदी मीडियम की कक्षा लगेंगी। फिलहाल केवल अंग्रेजी मीडियम स्कूल में कक्षा एक से लेकर 12वीं में प्रवेश दिए जाएंगे। प्रवेश संबंधित अधिक जानकारी के लिए डीईओ, जिले के सभी बीईओ व नवीन हायर सेकंडरी स्कूल में संपर्क किया जा सकता है।

स्कूल में प्रवेश की प्रक्रिया इस तरह होगी

शासन ने प्रवेश संबंधित निर्देश दिया है कि स्कूल में प्रवेश में प्राथमिकता का क्रम निर्धारित करने कक्षा पहली से पांचवीं तक के विद्यार्थियों के लिए एक किलोमीटर के भीतर निवासरत परिवारों को प्राथमिकता दी जाए। कक्षा 6 से 8वीं तक के लिए 3 तीन किलोमीटर और कक्षा 9वीं और 10वीं के विद्यार्थियों के लिए 5 किलोमीटर तथा कक्षा 11वीं, 12वीं के लिए 7 किलोमीटर की परिधि में रहने वाले परिवारों को प्राथमिकता दी जाए।

इसी प्रकार कक्षा पहली से पांचवी तक हिन्दी और अंग्रेजी माध्यम से पढ़े हुए दोनों ही प्रकार के विद्यार्थियों को एक समान प्राथमिकता दी जा सकती है। इसके बाद की कक्षाओं में पूर्व में अंग्रेजी माध्यम से पढ़े हुए विद्यार्थियों को प्राथमिकता दी जाए। विद्यालयों में उपलब्ध स्थान से अधिक विद्यार्थी आवेदन करते हैं, तो कक्षा पहली से पांचवी तक के लिए लॉटरी निकालकर प्रवेश प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इसके ऊपर की कक्षाओं के लिए पूर्व की कक्षाओं के परीक्षा परिणाम के आधार पर मेरिट सूची बनाकर प्रवेश दिया जाए। फिलहाल सीटों का निर्धारण नहीं किए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3frr9qy

0 komentar