डेढ़ हजार से ज्यादा आवेदन, कर्मठ कार्यकर्ताओं को निगम-मंडल में पद , June 16, 2020 at 05:25AM

छत्तीसगढ़ सरकार के निगम, मंडल और आयाेगों के किसी भी पद पर पैराशूट लैंडिंग नहीं होगी बल्कि पिछले 15 साल से पार्टी के लिए संघर्ष कर रहे कर्मठ कार्यकर्ताओं को महत्व दिया जाएगा। इसके लिए लगभग डेढ़ हजार से ज्यादा आवेदन आए थे उन्ही में छंटनी के बाद सूची तैयार की जाएगी। वैसे भी सीएम भूपेश बघेल पहले ही संकेत दे चुके हैं कि सिर्फ पद पाने की आस लगाए जो लोग पार्टी कार्यालय या बड़े नेताओंके चक्कर लगाते रहे हैं उनका नंबर नहीं लगेगा।
सोमवार को हुई कांग्रेस समन्वय समिति की आनलाइन बैठक में संगठन के विस्तार तथा सरकार तथा पार्टी की आगामी गतिविधियों के बारे में भी विस्तार से चर्चा की गई। इसमें प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, सीएम भूपेश बघेल, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ मंत्री टीएस सिंहदेव, धनेंद्र साहू, सत्यनारायण शर्मा आदि शामिल थे। दरअसल छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद से कई ऐसे चेहरे राजीव भवन या मंत्रियों तथा सीएम बंगले के ईर्द-गिर्द दिखाई देने लगे हैं जो न सिर्फ कांग्रेस से दूर थे बल्कि दूसरे दलों की राजनीति में भी सक्रिय थे। इसके अलावा कई ऐसेे अधिकारी-कर्मचारी भी दिखने लगे हैं जो या तो नौकरी से इस्तीफा देकर पार्टी में आए हैं या फिर जिन्होंने रिटायरमेंट के बाद कांग्रेस का दामन थामा है। लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेता भी यही मानते हैं कि पिछले 15 साल तक पार्टी के लिए जिन्होंने संघर्ष किया, जो जेल गए हैं, लाठी खाएं हैं, जिनके खिलाफ गैरजमानती धाराएं लगाई गईं ऐसे लोगों को पार्टी महत्व देगी। प्रभारी पुनिया कई बार यह कह भी चुके हैं। ऐसे लोगों में रायपुर से लेकर गांव, कस्बों तक के लोग भी शामिल हैं।
संगठन के विस्तार और सरकार के कामकाज को लोगों तक पहुंचाने पर चर्चा : पीसीसी ने उपाध्यक्ष और महामंत्रियों की नियुक्तियोंके बाद शेष पदों पर नियुक्तियां शेष हैं। संयुक्त महामंत्री और सचिवों की नियुक्तियां के लिए भी आवेदन मंगाने और सूची तैयार करने के लिए कहा गया है। बैठक में संगठन के विस्तार तथा सरकार के कामकाज को लोगों तक पहुंचाने तथा भाजपा के राजनीतिक हमलों का जवाब देने पर भी गंभीरता से विचार किया गया। वहीं सत्ता और संगठन के बीच तालमेल के अलावा पोलिंग बूथ को मजबूत करने गांव की युवा समितियां, गौठान समितियों के साथ जुड़ने के लिए कहा गया है।

राज्य में 50 से ज्यादा निगम-मंडल और आयोग
छत्तीसगढ़ में 56 निगम-मंडल आयोग काम कर रहे हैं। ऐसी खबर है कि पाठ्यपुस्तक निगम, नागरिक आपूर्ति निगम, मार्कफेड, खनिज विकास निगम, बीज निगम, पर्यटन मंडल, हाउसिंग बोर्ड, सीएसआईडीसी, राज्य गौसेवा आयोग, रायपुर विकास प्राधिकरण, ब्रेवरेज कार्पोरेशन, महिला आयोग, छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मंडल, क्रेडा, जैसे 10 से ज्यादा निगमों में ही पहले चरण की नियुक्तियां की जाएंगी।
अब तक तीन ही पदोंपर हुई हैं नियुक्तियां
प्रदेश में सरकार बनने के बाद अब तक तीन ही नियुक्तियां हो पाईं हैं। इनमें वक्फ बोर्ड, अल्पसंख्यंक आयोग, और हज कमेटी शामिल हैं। इनेक अलावे पीएससी में ही पूर्व आईएएस टीएस सोनवानी को अध्यक्ष बनाया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
More than one and a half thousand applications, working workers posts in the corporation board


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3ehsW1e

0 komentar