इस चातुर्मास साधु-साध्वियों का मंगल प्रवेश उत्सव पूर्वक नहीं, प्रवचन होंगे लाइव ताकि उपाश्रयों में न लगे लोगों की भीड़ , June 17, 2020 at 07:05AM

चातुर्मास शुरू होने में अब 20 दिन ही बाकी हैं। साधु-साध्वियाें ने प्रस्तावित शहर में चातुर्मास के लिए विहार शुरू कर दिया है। संभवत: यह पहली बार होगा जब शहर में संतों का मंगल प्रवेश बिना बैंड-बाजे के होगा। 
स्वागत करने के लिए भी जैन समाज के चंद लोग ही जुटेंगे। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। वहीं, प्रवचन भी अब लाइव किया जाएगा ताकि उपाश्रयों में भक्तों की भीड़ न लगे। दरअसल, राष्ट्र धर्म को प्रथम बताते हुए इस बार साधु-साध्वियां भी फिजिकल डिस्टेंसिंग पर जोर दे रहे हैं। इसीलिए जैन समाज ने भी तय किया है कि इस बार सारी धार्मिक क्रियाएं और अनुष्ठान कम लोगों की मौजूदगी में सादगी से संपन्न कराई जाएंगी। शहर में इस बार 4 जगह चातुर्मास होने हैं। इसके लिए साधु-साध्वियों का मंगल प्रवेश अब शुरू हो जाएगा। समाज ने इसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं। बता दें कि, इस बार अधिकमास होने की वजह से चातुर्मास 4 की जगह 5 माह का होगा। हालांकि, श्रावक-श्राविकाओं को इस बार घर में रहकर ही साधना-आराधना करनी होगी। 

3 सौ किमी पैदल चलकर मनोहर श्रीजी पहुंचीं अभनपुर 
विवेकानंद नगर स्थित ज्ञान वल्लभ उपाश्रय में इस बार साध्वी मनोहर श्रीजी आदि ठाणा 8 का चातुर्मास होगा। वे अपनी 8 शिष्याओं के साथ संबलपुर, बस्तर से करीब तीन सौ किलोमीटर पैदल चलकर अभनपुर पहुंच गई हैं। मंगलवार को विवेकानंद नगर चातुर्मास समिति के अध्यक्ष पुखराज मुणोत, उपाध्यक्ष मांगीलाल बरड़िया और महासचिव सुरेश बरड़िया ने अभनपुर जाकर उनके दर्शन किए। प्रचार प्रसार प्रभारी चंद्रप्रकाश ललवानी ने बताया कि साध्वी मनोहर श्रीजी बुधवार को नवा रायपुर जाएंगी। गुरुवार को शदाणी दरबार होते हुए शुक्रवार को भैरव सोसाइटी पहुंचेंगी। यहां से 1 जुलाई को विवेकानंद नगर में उनका मंगल प्रवेश होगा।

इस बार छत्तीसगढ़ में इन 16 स्थानों पर होंगे चातुर्मास
मूर्तिपूजक संघ

  • महेंद्र सागर महाराज : कैवल्यधाम, कुम्हारी
  • साध्वी मनोहर श्रीजी :  विवेकानंद नगर
  • सम्यक दर्शना श्रीजी : जैन मंदिर, सदर बाजार

सुधर्म जैन संस्कृति रक्षक संघ

  • महासती रंजना श्रीजी : सुधर्म विहार, भैरव सोसाइटी

श्रमण संघ 

  • रतन मुनि : बांधा तालाब, दुर्ग

तेरापंथ जैन समाज

  • कुमारी मसा- राजनांदगांव

साधुमार्गी जैन संघ

  • हेमप्रभा श्रीजी- समता भवन, दुर्ग
  • महासती सुरुचि श्रीजी- दल्लीराजहरा
  • हेमंत मुनि- नारायणपुर
  • रजत मणि मसा- नगरी
  • कुसुम कांता श्रीजी- डौंडीलोहारा

ज्ञान गच्छ सुधर्म परिवार

  • साध्वी गीता मसा- बांधातालाब, दुर्ग
  • रविंद्र मुनि- बालोद
  • विजय मुनि- खैरागढ़
  • प्रीति मसा- राजनांदगांव
  • सुषमा श्रीजी, रंजना श्रीजी-जगदलपुर

(संघ की अनुमति के अनुसार)



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
साध्वी मनोहर श्रीजी अपनी 8 शिष्याओं के साथ संबलपुर, बस्तर से करीब तीन सौ किलोमीटर पैदल चलकर अभनपुर पहुंची।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2N68zsc

0 komentar