छत्तीसगढ़ को गरीब कल्याण रोजगार अभियान में शामिल करने और प्रस्तावित एलिफेंट रिजर्व के पास कोल ब्लॉक नीलाम न करने की मांग , June 21, 2020 at 06:50PM

राज्य केमुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे छत्तीसगढ़ राज्य को गरीब कल्याण रोजगार अभियानमें शामिल करने का अनुरोध किया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि इस अभियान में छत्तीसगढ़ के सभी जिलों को शामिल करने से राज्य के सभी प्रवासी श्रमिकों को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

20 जून को बिहार के खगड़िया जिले से देश के 6 राज्यों के 116 जिलों में इस अभियान की शुरूआत की गई है। इस योजना में बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखण्ड और ओडिशाको शामिल किया गया है, लेकिन छत्तीसगढ़ को छोड़ दिया गया है।


वहीं, दूसरी तरफप्रदेश के वन मंत्री मो. अकबर ने केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावडे़कर को पत्र लिखा है। इस पत्र में राज्य की तरफ से केंद्र सरकार से यह मांग की गई है किहसदेव अरण्य एवं उससे सटे मांड नदी के जल ग्रहण क्षेत्र और प्रस्तावित हाथी रिजर्व की सीमा में आने वाले क्षेत्रों में स्थित कोल ब्लाकों को भारत सरकार द्वारा की जाने वाली आगामी कोल ब्लाक नीलामी में शामिल ना किया जाए।

मो. अकबर ने कहा है कि हाल ही में छत्तीसगढ़ राज्य मानव- हाथी द्वंद की बढ़ती घटनाओं और हाथियों के रहने की जरुरतों को देखते हुए लेमरू हाथी रिजर्व बनाया जा रहा है। इसलिए इस इलाके के कोल ब्लॉक को नीलामी से अलग रखा जाना चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर रायपुर स्थित मुख्यमंत्री निवास में हाल ही में हुई एक बैठक की है। केंद्र सरकार को लिखे गए पत्र से प्रदेश सरकार को उम्मीद है कि उनकी बात सुनी जाएगी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2YlpNYN

0 komentar