रावघाट में जहां होना है आयरन ओर का खनन, वहां पेड़ों की कटाई शुरू , June 22, 2020 at 04:16AM

रावघाट आयरन ओर प्रोजेक्ट में लंबे समय बाद कोई डेवलपमेंट सामने आया है। माइंस के जिस एफ ब्लाक के ए-ब्लाक में माइनिंग का काम शुरू करना है, वहां के पेड़ों की कटाई का काम 18 जून से शुरू हो गया है।
पर्यावरण की मंजूरी और राज्य शासन से पेड़ों की कटाई को लेकर मंजूरी मिलने को लेकर हुई देरी के कारण मामला लंबे समय से अटका हुआ था।

इस दौरान ड्रीलिंग प्वाइंट तक एप्रोच रोड के लिए पेड़ों की कटाई के साथ सड़क का निर्माण कार्य करीब डेढ़ साल पहले ही किया जा चुका है। उसके बाद से ड्रिलिंग प्वाइंट में करीब तीन हजार पेड़ों की कटाई के काम को मंजूरी का इंतजार था। दो दिन पहले पेड़ों की कटाई का काम शुरू कर दिया गया। ताकि तेजी से आयरन ओर खनन शुरू किया जा सके। सारी प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है।

ड्रिलिंग प्वाइंट पर सुरक्षा के लिए बनेगा कैंप
ड्रिलिंग प्वांइट में पेड़ों की कटाई के बाद अब वहां कैंप भी स्थापित किया जाएगा। जिसमें बीएसएफ के जवान मोर्चा संभालेंगे। ताकि माइनिंग की तैयारी में नक्सली किसी तरह की बाधा न खड़ी कर सके। बीएसएफ के जवान जाल टॉप से नजर रखे हुए हैं।

एफ ब्लॉक में यार्ड बनाने का काम जल्द होगा शुरू
एफ ब्लॉक के बॉटम में यार्ड बनाए जाने की योजना है। इस पर भी कार्रवाई शुरू किए जाने की जानकारी सामने आई है। बताया गया कि यार्ड बनाने के लिए टेंडर प्रक्रिया की जा रही है। एजेंसी तय होने के बाद जल्द निर्माण का कार्य शुरु किया जाएगा।

अंजरेल में अंतरिम माइनिंग बनाया जाएगा पहुंच मार्ग
रावघाट प्रोजेक्ट में समय लगता देख प्रबंधन एफ ब्लॉक के पास अंजरेल में अंतरिम माइनिंग की भी तैयारी कर रहा है। पहुंच मार्ग बनाने के लिए ढाई हजार पेड़ों की कटाई का काम हाल ही में पूरा कर लिया गया है। एक अनुमान के मुताबिक यहां से 1 एमटी आयरन ओर की सप्लाई की जा सकेगी।

14 एमटी आयरन ओर की है बीएसपी को डिमांड
बीएसपी में एक्सपांशन प्रोजेक्ट पूरा हो चुका है। इसके बाद उसकी आयरन ओर की डिमांड बढ़कर करीब 14 एमटी हो चुकी है। दल्ली राजहरा में आयरन ओर का डिपाजिट तेजी से खत्म होता जा रहा है। इससे आयरन ओर की कमी का सामना करना पड़ रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Where iron mining is to be done in Rawaghat, trees begin to be harvested.


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hNXQAH

0 komentar