हैंडपंप से निकलने वाले लाल पानी की समस्या से निपटने बना रहे सेनेटरी डगवेल , June 22, 2020 at 05:31AM

हैंडपंप से लाल पानी निकलना जिले के लिए सबसे बड़ी समस्या है। सैकड़ों हैंडपंप ऐसे हैं जिनका उपयोग सिर्फ इसलिए नहीं होता क्योंकि उन हैंडपंप से लाल पानी निकलता है। अब पीएचई विभाग इस समस्या से निपटने के लिए सेनेटरी डगवेल का निर्माण करा रहा है। सेनेटरी डगवेल वाले हैंडपंप में अम्लीय पानी भी साफ निकलता है और उसका स्वाद भी दूसरे हैंडपंप के पानी से अच्छा होता है।
बरसात के दिनों में दूषित पानी के सेवन से बीमारियों के फैलने का खतरा काफी बढ़ जाता है। इस वर्ष किसी को भी नदी या ढोडी का पानी ना पीना पड़े इसके लिए पीएचई विभाग द्वारा हैंडपंप के सुधार की दिशा में काम किया गया है।

वर्तमान में जिले में कुल हैंडपंप की संख्या 16 हजार 385 है। जिले के पठारी क्षेत्र जिसमें मनोरा, जशपुर और बगीचा विकासखंड के सैकड़ों गांव व हजारों मजरा टोले हैं वहां हैंडपंप से लाल पानी आने की समस्या सामान्य है। अब विभाग सेनेटरी डगवेल के जरिए पानी साफ कर ग्रामीणों को शुद्ध पेयजल मुहैया करा रहा है। सेनेटरी डगवेल में पहले कुआं खोदा जाता है। कुएं के सतह से ही हैंडपंप के पाइप अंदर जाते हैं। इसके बाद इस कुएं के ऊपर ढलाई कर इसे ढंक दिया जाता है। कुएं के ऊपर हैंपपंप स्थापित होता है। इस विधि में हैंडपंप के पानी साफ निकलता है। अबतक जिले में 250 से अधिक डगवेल का निर्माण किया जा चुका है।

हैंडपंप का उपयोग कम होता है इसलिए है समस्या
पीएचई के अधिकारी ने बताया कि कई स्थानों पर हैंडपंप के पानी का कम उपयोग भी लाल पानी की समस्या का कारण है। गांव में कुछ हैंडपंप का उपयेाग कम होता है इसलिए उसमें हमेशा लाल पानी की शिकायत बनी रहती है। यदि इन हैंडपंप में लगातार पानी का उपयेाग किया जाए तो पानी अपने आप साफ हो सकता है।

खर्च लगभग दोगुना
सेनेटरी डगवेल का निर्माण कर हैंडपंप स्थापित करने में खर्च लगभग दोगुना आता है। इसलिए इसे ऐसे स्थानों पर बनाया जा रहा है जहां लाल पानी को साफ करने का दूसरा कोई विकल्प नहीं बच रहा है। अधिकांश डगवेल पहाड़ी इलाकों में बनाए गए हैं। ऐसे इलाके जहां सामान्य पंप धंस जाते हैं या जहां हैंडपंप खनन वाली गाड़ियां नहीं पहुंच पाती है ऐसे पहुंचविहीन इलाकों में भी इसे बनाया जा रहा है।

बरसात में ही सभी हैंडपंप में केमिकल डाला जाएगा
बरसात मेें लोगों को साफ पानी मिले इसके लिए बरसात से पहले सभी हैंडपंप में सोडियम हाइपोक्लोराइट की दवा डाली गई है। लाल पानी की समस्या से निपटने के लिए ऐसे स्थान पर सेनेटरी डगवेल का निर्माण हो रहा है जहां दूसरा कोई विकल्प नहीं है। पानी के लगातार उपयोग से लाल पानी की समस्या को दूर किया जा सकता है। -वीके उरमलिया, ईई, पीएचई



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Sanitary dugwells are dealing with the problem of red water emanating from the hand pump


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hYQQ4a

0 komentar