मां नहीं बन पाई तो पहली शादी टूटी, दूसरी शादी कर गर्भवती होने का झांसा देकर अस्पताल से चुराया बच्चा , June 22, 2020 at 07:30AM

अभनपुर सरकारी अस्पताल से चोरी हुआ नवजात 24 घंटे के भीतर दुर्ग नयापारा में मिल गया है। पुलिस ने बच्चा चोरी करने वाली महिला और उसके भाई को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों ने रेकी के बाद नवजात को अस्पताल से चोरी किया था। अभनपुर से बाइक पर पहले मोतीनगर टिकरापारा आए। फिर रातोरात में वहां से दुर्ग निकल गए। दरअसल मां नहीं बन पाने पर महिला ने ससुराल में गर्भवती होने का झांसा देकर मायके आ गई थी।
एएसपी तारकेश्वर पटेल ने बताया मोती नगर की पूजा सिन्हा (27) ने पिछले साल दुर्ग नयापारा के विक्रांत सिन्हा से दूसरी शादी की है। चूंकि मेडिकल रिपोर्ट में ये बात सामने आ चुकी थी कि पूजा कभी मां नहीं बन सकती हैं। इसी विवाद के कारण पहले पति से उसका तलाक हो गया। उसने झूठ बोलकर शादी कर ली। उसने शादी के 6 माह बाद अपने पति को बताया कि वह गर्भवती हो गई। वह डिलवरी के लिए मायके जा रही है। वह मायके आ गई। उसके ससुराल वाले हमेशा उसके स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहे। जब नौंवा महीना नजदीक आने लगा तब उसने अपने भाई परसराम सिन्हा के साथ मिलकर बच्चा चोरी की योजना बनाई। दोनों भाई-बहन पिछले 15 दिनों से कई अस्पताल के चक्कर काट रहे थे। प्लानिंग के तहत शनिवार दोपहर दोनों भाई-बहन अभनपुर सरकारी अस्पताल पहुंचे। परसराम अस्पताल के बाहर बाइक पर बैठकर बहन का इंतजार कर रहा था। पूजा अस्पताल के भीतर गई। उसकी नजर खेमेश्वरी पर पड़ी, जिसकी डिलीवरी हुई थी। उसके बच्चे के पास एक बुजुर्ग बैठी हुई थी। बुजुर्ग के हटते ही पूजा गई और खेमेश्वरी को झांसा दिया कि डॉक्टर बच्चे को देखना चाहते हैं। बच्चे को अपने कक्ष में मंगाया है। पूजा बच्चे को लेकर मायके होते हुए ससुराल पहुंची। इधर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज में बाइक का नंबर ट्रैस कर दोनों तक पहुंच गई। ससुराल में बच्चे के जन्म की खुशियां मन रही थी। उसी समय बहू के इस कृत्य का खुलासा हो गया।
यहां से पूजा ने ससुराल वालों को बताया कि उसे लड़का हुआ है। फिर वे दुर्ग निकल गए। उसके ससुराल में जश्न शुरू हो गया। बच्चे का भव्य तरीके से स्वागत किया गया। इधर बच्चा चोरी होने से अस्पताल में हड़कंप मच गया। जांच के लिए एसएसपी ने स्पेशल टीम बनाई। अस्पताल के कैमरे में पूजा का फुटेज मिला। वह पिछले तीन दिनों से वहां घूमते पाई गई। पुलिस को परसराम के बाइक का नंबर मिल गया। उस आधार पर पुलिस पहले मोतीनगर फिर दुर्ग पहुंची। जहां आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और बच्चा बरामद हो गया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
The first marriage was broken if the mother could not become her, the second child stole the child from the hospital by pretending to be pregnant.


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2V4JzG8

0 komentar