पत्नी की तस्वीर वायरल करने का आरोप, नित्यानंद के चेले पर केस , June 23, 2020 at 06:09AM

दुष्कर्म के मामले में आरोपी बनाए गए भगाेड़े स्वयंभू बाबा नित्यानंद के बिलासपुर के कथित शिष्य ने अपनी जिस पत्नी से मारपीट कर परित्याग कर दिया है, उसने महिला थाने में दहेज प्रताड़ना की रिपोर्ट दर्ज कराई। स्वयंभू बाबा के कथित चेले पर पत्नी का अभद्र फोटो व वीडियो वायरल करने का आरोप है। वह इन्हें इंटरनेट में डालने व पोस्टर छपवाने की धमकी दे रहा है। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है।
रायपुर गुढ़ियारी एकता नगर निवासी स्वाती शिरसाट की घुरू अमेरी निवासी वैभव शिरसाट पिता शरद शिरसाट 33 साल का विवाह 13 मई 2013 को हुआ था। उनकी दो बच्चियां हैं। इनमें से एक चार साल की और दूसरी 6 साल की है। शादी के बाद पति कुछ दिन तक ठीक ठाक रहे। महिला का पति का एलआईसी में जॉब है। 2018 में वह विभागीय काम से भोपाल गया। वहां नित्यानंद का शिष्य बन गया। घर लौटा तो बदल चुका था। पत्नी को दूर रहने के लिए कह दिया। कहा कि दोनों के बीच पति-पत्नी का कोई रिश्ता नहीं रहेगा। बच्चे को कथित बाबा के आश्रम भेजने तक के लिए कहने लगा। महिला को नित्यानंद के बारे में पता था। आश्रम में कई के साथ गलत काम हुआ था। उसने मना किया तो पति ने मारपीट की। कूकर फेंककर मारा। महिला शिकायत लेकर थाने गई तो नौकरी चले जाने का हवाला देकर घर ले आया। प्रताड़ना का सिलसिला जारी था। इसके बाद दहेज के नाम से उसके साथ मारपीट शुरू कर दी। कहा जाने लगा वह दहेज में कुछ लेकर नहीं आई है। महिला के पिता ने एक लाख कथित बाबा के चेले के खाते में डाला। उसके साथ साथ सास,ससुर, देवर ने भी गाली गलौज करना शुरू कर दिया। सभी प्रताड़ित करने लगे। पहली बेटी हुई तो पति नाराज हो गया। दूसरी बार जबरदस्ती गर्भपात कराने के लिए बोला। मना करने पर 2015 में उसने घर से निकाल दिया। वह मायके चली गई। बड़े बुजुर्ग की समझाइश पर ले आया पर दोबारा बेटी हुई तो पति ने चार महीने तक उसका शक्ल नहीं देखी।

महिला के अनुसार जब उसके पेट में बच्चा पल रहा था तो पति ने पलंग से ढकेल दिया था और मारपीट की थी,जिससे उसके बच्चे का बच्चे का भी नुकसान हो जाए और वह भी मर जाए। पुलिस ने तब समझौता कराकर घर भेज दिया। मेरे पति ने मानसिक प्रताड़ना के साथ-साथ मारपीट भी शरू कर दिया। उसने महिला की अभद्र तस्वीर भी सोशल मीडिया में वायरल कर दी है। यह भी कह रहा है कि वह इन्हें इंटरनेट में डालेगा और पोस्टर भी छपवाउंगा। ब्लैकमेल कर रहा है। वह बच्चों को भी आश्रम भेजना चाहता है। दो बच्चियां उसी के पास हैं। मई में वह पति के घर 114 किलोमीटर का सफर कर स्कूटी से अपने पति के घर आई तो उसे भगा दिया। वह बच्चों को देखे बिना ही लौट गई। शिकायत लेकर सकरी थाने गई पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं हुई। पुलिस ने उल्टा उसे क्वारेंटाइन में भेज दिया। थक हारकर उसने रायपुर के महिला थाने में जाकर रिपोर्ट दर्ज कराई।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fNFePl

0 komentar