सहेलियों से कम नंबर मिले तो छात्रा ने लगाई फांसी, दो युवती के शव एक रस्सी से लटके मिले , June 29, 2020 at 05:38AM

जिले में रविवार को भरतपुर ब्लाॅक में तीन युवतियों ने आत्महत्या की। इनमें एक 12वीं की छात्रा और दो युवतियां मजदूरी करने वाली हैं। छात्रा ने अपनी सहेलियों से कम नंबर मिलने पर फांसी लगाई। वहीं युवतियों के शव 25 किमी दूर जंगल में एक ही रस्सी से पेड़ पर लटके मिले।
भरतपुर ब्लाॅक के लाखनटोला में रहने वाली ऋतुरात कक्षा 12वीं में 66 प्रतिशत अंकों के साथ पास हुई। बावजूद इसके उसने आत्महत्या कर ली। इसका कारण बताया जा रहा है सहेलियों से कम अंक मिलने के कारण मौत को गले लगा लिया। लोगों में चर्चा है कि सहेलियों से कम अंक आने के कारण छात्रा कुछ दिनों से डिप्रेशन में चल रही थी। परिजन भी उसे समझा रहे थे, लेकिन इसके बाद भी वह उदास रहती थी। वहीं दूसरे मामले में शनिवार को घर से मनरेगा के तहत गांव में चल रहे काम करने निकली दो युवतियों का शव कोटाडोल से 25 किमी दूर खराईया डोंगरी के जंगल में एक ही रस्सी से महुआ के पेड़ में फांसी पर लटका मिला। ग्रामीणों के अनुसार हर दिन की तरह शनिवार को मैनकली और ऊषा दोनों घर से मनरेगा के तहत गांव में चल रहे काम में मजदूरी करने निकलीं, लेकिन दूसरे दिन रविवार को दोनों की मौत की खबर ग्रामीणों को मिली। जिससे गांव में सनसनी फैल गई। एक ही रस्सी से महुआ के पेड़ दोनों का शव फांसी पर लटका मिला। इधर सवाल उठ रहा है कि वे गांव से 25 किलोमीटर दूर जंगल तक कैसे पहुंची। तीनों के मौत का स्पष्ट कारण पुलिस का पता नहीं चल सका है। देर शाम तक डोंगरी के जंगल से शव लाकर पुलिस ने शव का पीएम करा दिया है। वहीं पुलिस छानबीन में जुट गई है। कोटाडोल थाना प्रभारी कंवर ने बताया कि 12वीं तक पढ़ी मैनकली और दसवीं की पढ़ाई छोड़ चुकी ऊषा सिंह मनरेगा के तहत गांव में चलने वाले कार्य में जाती थी। दोनों 25 किमी दूर जंगल में कैसे पहुंची। आत्महत्या है या हत्या इसके बारे में कुछ भी कह पाना अभी मुश्किल है। वहीं सोमवार को गांव के लोगों से और मनरेगा के तहत जहां दोनों काम करने जाते थी। उनसे पूछताछ करने पर मौत का कारण स्पष्ट होगा।

25 किलोमीटर दूर जंगल में कैसे पहुंची युवतियां
दो युवतियों के एक ही रस्सी से फंदे पर लटके मिले होने पर पुलिस भी सकते में है। अब तक ये समझ में नहीं आ रहा है कि आिखर दोनों युवतियां 25 किलोमीटर दूर जंगल में कैसे पहुंच गईं। पुलिस आशंका जता रही है कि मनरेगा में काम करने वाली दोनों युवतियों को कोई जंगल में ले गया होगा और उनकी हत्या कर शव को फांसी पर लटका दिया गया होगा। हालांकि मौत का कारण पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट होगा। पुलिस अफसरों के अनुसार वे मामले की जांच कर रहे हैं, जल्दी कारणाें का खुलासा होगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3881nW2

0 komentar