इंग्लिश मीडियम स्कूलों में कक्षा-1 व 2 के लिए होगी लॉटरी, बाकी में मेरिट से प्रवेश , July 28, 2020 at 06:08AM

सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूलों में प्रवेश लॉकडाउन खत्म होने के बाद होगा। इसके तहत कक्षा पहली व दूसरी में दाखिले के लिए लॉटरी होगी। जबकि अन्य कक्षाओं के लिए मेरिट के आधार पर एडमिशन होगा। प्रत्येक इंग्लिश मीडियम स्कूल में 640 सीटों पर प्रवेश होगा। अफसरों ने बताया कि राजधानी में इस साल तीन नए इंग्लिश मीडियम स्कूल खुले हैं।
यहां कक्षा पहली से लेकर बारहवीं तक की पढ़ाई होगी। पिछले दिनों आवेदन की प्रक्रिया पूरी हुई। कक्षा पहली व दूसरी में प्रवेश के लिए सबसे अधिक आवेदन मिले हैं। इसलिए इन कक्षाओं की सीटें, लॉटरी के माध्यम बांटने की योजना बनायी गई है। अन्य कक्षाओं में मेरिट के अनुसार सीटें आबंटित की जाएगी। यह मेरिट पिछली परीक्षाओं में मिले नंबरों के आधार पर तैयार की जाएगी। पिछले दिनों आवेदन मंगाए गए थे। इसकी जांच हो गई है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद सीटों के आबंटन की प्रक्रिया शुरू होगी। गौरतलब है कि राज्य में इस साल 40 इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू किए गए हैं। इनमें से राजधानी में आरडी. तिवारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय आमापारा रायपुर, बीपी. पुजारी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय राजातालाब और शहीद स्मारक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय फाफाडीह शामिल हैं।

पुराने इंग्लिश स्कूलों के प्रति इस बार भी रुझान नहीं
राज्य में इस साल 40 इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू हुए हैं। इन स्कूलों को लेकर शिक्षा विभाग के अफसर खूब प्रचार कर रहे हैं। दाखिले के लिए नई-नई योजनाएं बनाई गई। इसलिए इन सरकारी इंग्लिश स्कूलांे में दाखिले के लिए होड़ लगी है। वहीं दूसरी ओर तीन-चार साल पहले शासन ने ही राज्य में 153 इंग्लिश मीडियम स्कूल शुरू हुए। यहां प्राइमरी व मिडिल की पढ़ाई होती है। इन स्कूलों में दाखिले को लेकर इस साल भी रुझान नहीं है। पिछले बरसों में भी सीटें खाली रही। शिक्षाविदों का कहना है कि जिस तरह से तीन नए इंग्लिश स्कूलों के प्रति अफसर ध्यान दे रहे हैं, उसी तरह पुराने इंग्लिश स्कूलाें के प्रति भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

अभी छत्तीसगढ़ बोर्ड से ही जुड़ेंगे स्कूल
शिक्षा विभाग के अफसरों का कहना है कि इस साल शुरू हुए नए इंग्लिश मीडियम स्कूल अभी छत्तीसगढ़ बोर्ड से ही जुड़ेंगे। इन स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र अगले साल दसवीं व बारहवीं की परीक्षा भी छत्तीसगढ़ बोर्ड के अनुसार ही देंगे। अभी कुछ साल तक सीबीएसई से नहीं जुड़ेंगे स्कूल। बाद के बरसाें में छत्तीसगढ़ बोर्ड के अनुसार यहां पढ़ाई होगी या बदलाव होगा इस लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hzzUAa

0 komentar