स्वास्थ्य मंत्री के बंगले के 10 और मंत्रालय के 5 कर्मचारी संक्रमित; रायपुर में 184 समेत प्रदेश में 336 नए केस, 3 मौतें , August 01, 2020 at 06:22AM

रायपुर में शुक्रवार को 184 समेत प्रदेश में 336 कोरोना के नए मरीज मिले हैं। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के सिविल लाइन स्थित बंगले के 10 स्टाफ कोरोना संक्रमित हाे गए हैं। वहीं मंत्रालय के 5 कर्मचारियों में संक्रमण पाया गया है। स्वास्थ्य मंत्री के बंगले में एक साथ ज्यादा केस मिलने से खलबली है। मंत्रालय व इंद्रावती भवन को तीन दिनों के लिए पूरी तरह बंद कर दिया गया है। जीएडी ने 70 संदिग्ध कर्मचारियों की सूची जारी कर कहा है कि वे कोरोना जांच करवाने के बाद ही ड्यूटी पर आएं। इस बीच रायपुर व गरियाबंद में एक-एक मरीज की मौत भी हुई है। एक एम्स में दूसरा मरीज लालपुर स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती था।
नए मरीजों में कोंडागांव से 23, दुर्ग से 19, राजनांदगांव से 17, महासमुंद से 9, कोरबा से 6, बलरामपुर, बस्तर व बलौदाबाजार से 4-4, बिलासपुर से 3, जांजगीर-चांपा से 2, दंतेवाड़ा, जशपुर, सूरजपुर, सरगुजा, गरियाबंद, कांकेर व अन्य राज्य से एक-एक शामिल हैं। ईदगाहभाठा मंगलबाजार में 44 साल के व्यक्ति को 22 जुलाई को एम्स में भर्ती किया गया था। निमोनिया के कारण उसकी सांस तेज चल रही थी। शुक्रवार की सुबह उसकी मौत हो गई। हॉट स्पॉट मंगलबाजार में यह कोरोना से दूसरी मौत है। गरियाबंद के 59 वर्षीय मरीज को गुरुवार को लालपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। उसे लीवर व किडनी की बीमारी थी। अब तक प्रदेश में 55 लोगों की मौत हो चुकी हैं। इनमें 24 मौत रायपुर में हुई है। नए केस के साथ प्रदेश में मरीजों की संख्या बढ़कर 9192 हो गई है। जबकि एक्टिव केस भी 3 हजार पार होकर 2908 हो गया है। शुक्रवार को रिकॉर्ड 309 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। अब तक 6230 मरीज इलाज के बाद स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं।

सीएम हाउस के गेट, मंत्रालय में पहले ही कोरोना के मरीज मिल चुके हैं। अब स्वास्थ्य मंत्री बंगले में एक साथ इतने लाेग पाॅजिटिव मिल गए हैं, जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनके संपर्क में आए लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। राजधानी में 23 जुलाई से रोजाना 100-200 से ज्यादा कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। प्रदेश में यह सबसे ज्यादा है। राजधानी में आंकड़ा धीरे-धीरे बढ़ रहा है। 23 जुलाई को 208, 24 को 246, 25 को 134, 26 को 199, 27 को 179, 28 को 158, 29 को 135 व 30 जुलाई को 104 मरीज मिले थे। गुरुवार की रात काेरोना कमांड सेंटर के दो सीनियर डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके पहले कोरोना सेल के मीडिया प्रभारी व जिला अस्पताल के सिविल सर्जन पत्नी समेत संक्रमित हो चुके हैं। सभी चारों डॉक्टर होम आइसोलेशन पर रहकर इलाज करवा रहे हैं। दुर्ग के बाद रायपुर व अब पूरे प्रदेश में कोरोना मरीजों के लिए होम आइसोलेशन की सुविधा शुरू की गई है।

रायपुर में 2947 मरीज, 1460 एक्टिव केस: रायपुर में मरीजों की संख्या 3 हजार पहुंचने वाली है। जबकि एक्टिव केस 1460 है। 31 मई तक कोरोना के केवल 15 मरीज थे। जून व जुलाई में 2947 मरीज बढ़ गए हैं। पिछले 10 दिनों में 1602 मरीज मिले हैं। रोज का औसत 160 मरीज है। कोरोना सेल के मीडिया प्रभारी डॉ. सुभाष पांडेय व सीनियर गेस्ट्रो सर्जन डॉ. देवेंद्र नायक के अनुसार लगातार संक्रमण का कारण लोगों की लापरवाही बड़ा कारण है। जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनके संपर्क में आकर 15 से 20 फीसदी लोग संक्रमित हुए हैं। यह एक अलार्म है। रायपुर में यही नहीं पूरे प्रदेश में 50 फीसदी एक्टिव केस केवल रायपुर में है। कुल मरीजों में रायपुर में 33 फीसदी मरीज मिले हैं। संक्रमण को रोकने के लिए लोगों को भी पूरी तरह से एहतियात बरतना होगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ये तस्वीर रायपुर के कालीबाड़ी टीबी अस्पताल में बनाए गए कोरोना टेस्ट सेंटर की है। यहां अपना सैंपल टेस्ट कराने के लिए लोग सुबह 6 बजे से लाइन पर लग जाते हैं। इस सेंटर में हर दिन करीब 300 से ज्यादा लोग टेस्ट करा रहे हैं। फोटो स्टोरी- संदीप राजवाड़े


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fg20i7

0 komentar