ईएसआईसी अस्पताल में राशन कार्ड से फ्री इलाज, नहीं है तो 1448 रु. रोज , July 21, 2020 at 05:56AM

राजधानी में एम्स, मेडिकल कॉलेज व शासकीय माना अस्पताल के बाद कोरोना मरीजों के इलाज व भर्ती के लिए सरकार ने प्राइवेट सिस्टम के साथ ईएसआईसी के 200 बिस्तर अस्पताल को शुरू कर दिया है। रावांभाठा में बंजारी माता मंदिर के पास ईएसआईसी अस्पताल बिल्डिंग को सरकार की निगरानी में निजी तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है, इसलिए इसे प्राइवेट अस्पताल की श्रेणी में रखा गया है। इस अस्पताल में प्रदेश का कोई भी कोरोना पॉजीटिव मरीज सिर्फ राशन कार्ड दिखाकर मुफ्त में इलाज करा पाएगा। अगर किसी के पास राशन कार्ड नहीं है, तो उसे सारे खर्च मिलाकर 1448 रुपए रोजाना देने होंगे। इस अस्पताल में सोमवार को दोपहर पहला मरीज भर्ती भी हो गया है।
इस अस्पताल के सिस्टम को ही सरकार ने निजी हाथों में सौंपा है, इसलिए यहां राशन कार्ड होने पर इलाज के साथ-साथ रहना-खाना भी फ्री है। रावांभाठा में यह अस्पताल ईएसआईसी की हॉस्पिटल बिल्डिंग में ही शुरू हुआ है। इसके सिस्टम को निजी हाथों में सौंपने के लिए शासन ने ही टेंडर किया था। इस तरह, यह राजधानी का यह पहला निजी अस्पताल है जिसमें रोज करीब 50 मरीज भर्ती किए जाएंगे। इस कोविड अस्पताल के संचालक डॉ. अरुण मढरिया ने बताया कि शासन के प्रोटोकॉल व तय किए लक्षण के अनुसार ही मरीज भर्ती होंगे। यहां लेवल-1 वाले कोविड मरीज का ट्रीटमेंट किया जाएगा। इस लेवल वाले मरीज वे होते हैं, जो टेस्ट में पॉजीटिव मिले हैं लेकिन उन्हें कोई खास परेशानी या गंभीर प्रॉब्लम नहीं है। नियमानुसार उन्हें अधिकतम 10 दिन भर्ती रखकर इलाज किया जाएगा। शासन ने ही तय किया है कि यहां एडमिट होने वाले राशन कार्डधारी मरीजों से किसी भी प्रकार का कई शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसके साथ अगर कोई मरीज प्रदेश का है, लेकिन उसके पास राशन कार्ड नहीं या वह बाहरी राज्य का है तो उसे शासन की तरफ से तय इस अस्पताल में एडमिट होने पर रोजाना का 1448 रुपए देना होगा। जिसमें सभी तरह के खर्च शामिल हैं।

टेंडर 6 माह के लिए, 60 स्टाफ
सीएमएओ डॉ. मीरा बघेल ने बताया कि शासन ने रावांभाठा स्थित ईएसआईसी हॉस्पिटल में कोविड-19 अस्पताल चलाने को लेकर टेंडर निकाला था। सबसे कम ट्रीटमेंट की दर 1448 रुपए रोजाना का प्रस्ताव गायत्री अस्पताल ने दिया था, इसलिए उसे सौंपा गया है। अब वहां नए सिरे से कोविड गाइडलाइन के अनुसार निर्माण कर अस्पताल शुरू किया है। डॉ. मढरिया ने बताया कि इस कोविड निजी अस्पताल के लिए 60 प्रशिक्षित मेडिकल स्टॉफ को रखा गया है।
जनरल वार्ड, प्राइवेट रूम भी
इस अस्पताल में 200 कुल बेड हैं, जिनमें 6-6 व 10-10 बेड के जनरल वार्ड बनाए गए हैं। इसके अलावा जरूरत पड़ने पर किसी मरीज को रखने के लिए 6 प्राइवेट रूम भी हैं। यहां मानकों को देखते हुए सिंगल एंट्री गेट, बाथरूम के साथ नॉन कोविड एरिया भी बनाया गया है। इसके साथ ही यहां मरीजों के योग, मोटिवेशनल क्लास, रिक्रीएशन सेंटर व मनोरंजन की सुविधा मिलेगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Free treatment with ration card in ESIC hospital, if not 1448 daily


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fI5yuG

0 komentar