छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य जहां गोबर खरीद रही सरकार, प्रदेश में पहले दिन 2 हजार क्विंटल गोबर की खरीदी , July 21, 2020 at 05:55AM

छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य बन गया है, जहां गोधन न्याय योजना से सरकार 2 रुपए किलो में गोबर खरीद रही है। सोमवार को हरेली पर सीएम हाउस में सीएम भूपेश ने अभनपुर ब्लॉक ने नवागांव के चार किसानों से 48 किलो गोबर की खरीदी कर दो रुपए प्रति किलो के हिसाब से 96 रुपए का भुगतान किया। गोबर खरीदी रजिस्टर में एंट्री करने के साथ ही किसानाें को गोबर विक्रेता कार्ड भी दिए। इसमें रोज बेचे जाने वाले गोबर की मात्रा दर्ज की जाएगी। सीएम बघेल ने पत्नी मुक्तेश्वरी बघेल व परिवार के अन्य सदस्यों के साथ कृषि यंत्रों की पूजा कर पारंपरिक तरीके से हरेली त्योहार मनाया। सीएम ने रहचुल व गेड़ी का आनंद लिया। वहीं पहले दिन पूरे प्रदेश में 11 हजार पशुपालकों को से 2 हजार क्विंटल गोबर खरीदा गया। उधर, अपने गृहक्षेत्र पाटन में आयोजित कार्यक्रम में सीएम ने घोषणा की कि प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में रूरल इंजीनियरिंग पार्क खोला जाएगा। प्रदेश के सभी मंत्रियों और संसदीय सचिवों ने अपने-अपने इलाकों में भी योजना की शुरुआत की। दूसरी ओर इस योजना की धूम छत्तीसगढ़ से लेकर ओडिशा तक रही। पहली बार छत्तीसगढ़ के पारंपरिक हरेली त्यौहार को मनाने के लिए सीएम हाउस के एक हिस्से को ग्रामीण परिवेश का स्वरूप दिया गया।

गांव के घरों में जिस प्रकार पूजा की जाती है, उसकी झांकी तैयार की गई। गांव के घरों और बाड़े की झांकी को गोबर और मिट्टी से लीप कर तैयार किया गया। गांव के अनुरूप ही गौठान भी बनाया गया है। सजावट के लिए यहां गाड़ा बइला रखा गया। दूसरी ओर ओडिशा के रेत कलाकार सुदर्शन पटनायक ने पुरी समुद्र तट पर योजना की कलाकृति बनाकर बधाई दी है।

बड़े पैमाने पर मिलेगा रोजगार : देश की अपने तरह की पहली गोधन न्याय योजना से पशुपालन को बढ़ावा देने के साथ-साथ कृषि लागत में कमी और जमीन की उर्वरा शक्ति में वृद्धि होगी। इस योजना से पर्यावरण में सुधार के साथ-साथ ग्रामीण अर्थव्यवस्था में भी बड़े बदलाव की उम्मीद है। गोधन न्याय योजना से बड़े पैमाने पर शहर व गांव में रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे। राज्य में पांच हजार गौठान स्वीकृत किए जा चुके हैं, जिनमें 2785 में न्याय योजना की शुरुआत की गई है। राज्य सरकार चरणबद्ध रूप से गौठानों का विस्तार करते हुए प्रदेश की सभी 11630 ग्राम पंचायतों और सभी 20 हजार गांवों में गौठान निर्माण का लक्ष्य रखा है। निर्माण पूरा होने के बाद वहां भी न्याय योजना के तहत गोबर की खरीदी की जाएगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
खरीदी केंद्र में गोबर तौलने के बाद गोधन कार्ड देते हुए सीएम भूपेश बघेल।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2CVJONf

0 komentar