बलौदा में लाखों के नकली नोट खपाने के बाद रायपुर की थी तैयारी; 21 लाख के नकली नोट व 5 गिरफ्तार , July 29, 2020 at 06:29AM

महासमुंद पुलिस ने 21.27 लाख रुपए के नकली नोट के साथ 5 आरोपियाें को गिरफ्तार किया है। सभी आरोपी बलौदाबाजार जिले के निवासी हैं। इनमें से मुख्य सरगना ग्राम जैतपुर थाना सरसींवा बलौदाबाजार निवासी कलाराम उर्फ रामदास नायक (29) और ग्राम बिलासपुर थाना सरसींवा निवासी मुन्नालाल भारती (50) 13 लाख रुपए के नकली नोट लेकर महासमुंद आए थे। इसी दौरान नदी मोड़ के पास पकड़े गए। पुलिस ने दोनों की निशानदेही पर तीन अन्य आरोपियों दुर्गा कुर्रे (52), ग्राम ओडकाकन सरसींवा निवासी रेशम कोसले (24) एवं भूपेन्द्र जांगड़े (26) को गिरफ्तार किया। यही नहीं इन सभी के घर से अलग-अलग 8.27 लाख रुपए के नकली नोट भी बरामद किए गए हैं। कोतवाली पुलिस ने पांचों आरोपियों के खिलाफ धारा 489 क ख ग घ के तहत अपराध दर्ज कर जांच में लिया है।
मंगलवार को पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने कंट्रोल रूम में मामले का खुलासा किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी पहले से ही नकली नोट छाप कर बलौदाबाजार जिले के अलग-अलग इलाकों में खपाया करते थे। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि वे अब तक लाखों रुपए का नोट छापकर बलौदाबाजार जिले में खपा चुके हैं।
उनका टार्गेट शराब दुकान, पेट्रोल पंप सहित भीड़-भाड़ वाला इलाका होता था। जहां वे 50-100-200 रुपए के नकली नोट देकर आसानी से सामान खरीदकर निकल जाते थे। इसी लालच में आरोपियाें ने इस बार नकली नोट की बड़ी खेप छापी और रायपुर व महासमुंद में खपाने आए थे। ये 25 हजार रुपए के एवज में 1 लाख रुपए के नकली नोट देते थे। इन्होंने कुछ लोगों को नकली नोट खपाने के लिए पहले भी दिया है। पुलिस अब ऐसे लोगों की तलाश कर रही है, जो इनके संपर्क में थे।
कार्रवाई में ये रहे शामिल : पूरी कार्रवाई एसपी के मार्गदर्शन और एएसपी मेघा टेंभुकर, एसडीओपी नारद सूर्यवंशी के निर्देशन में कोतवाली प्रभारी शेर सिंह बंदे, साइबर सेल प्रभारी संजय राजपूत, उप निरीक्षक हर्ष कुमार धुरंधर, योगेश सोनी, सउनि विकास शर्मा, नवधाराम खांडेकर, प्रआ. मिनेश ध्रुव, प्रकाश नंद, हेमंत नायक, युगल पटेल, संदीप भोई, ललित यादव, त्रिनाथ प्रधान, योगेन्द्र दुबे, कामता आवड़े, छत्रपाल सिन्हा, चम्पलेश सिंह, अजय जांगड़े शामिल थे।

आरोपियों के घर से मिले 8.27 लाख के नकली नोट
पकड़े गए दोनों आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ की गई तो उन्होंने अपना अपराध स्वीकार किया। साथ ही बताया कि वे अपने साथी दुर्गा कुर्रे, रेशम कोसले एवं भूपेन्द्र जांगड़े के साथ मिलकर नकली नोट का कारोबार करते हैं। इसके बाद टीम ने कला राम के घर से 1.20लाख, मुन्नालाल के घर से 2.40लाख, दुर्गा कुर्रे के यहां से 2.57लाख, रेशम कोसले के यहां से 90 हजार एवं भूपेन्द्र कोसले के यहां से 1.20लाख रूपये बरामद किया। आरोपियों के पास से जब्त नोट में 500 रुपए के 4235 और 100 रुपए के 9500 नकली नोट शामिल हैं। आरोपियों के घर कलर प्रिंटर, कम्प्यूटर सेट, चार नग टोनर, पेपर कटिंग मशीन, दो नग कटर ब्लेड, कैची, पेन ड्राइव, मोटर साइकिल एवं कोर साइज बॉण्ड पेपर जब्त किया गया है।

कर्ज में डूबा, उबरने के लिए चुना नकली नोट बनाने का रास्ता
एसपी ने बताया कि कलाराम उर्फ रामदास अपने गांव जैतपुर में प्रिटिंग प्रेस का कारोबार चलाता है। उसने इस धंधे को चालू करने के लिए लोगों से उधार लिए थे। जब कर्ज चुका नहीं पाया तो, उसने नकली नोट छापने का धंधा शुरू किया। इस धंधे में अन्य चार लोगों को शामिल किया। आरोपियाें ने सरसींवा क्षेत्र में तीन से चार लाख रुपए खपाए हैं।

आरोपियों को पकड़ने के लिए ऐसे बिछाया जाल
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि देर रात मुखबीर से सूचना मिली कि नदी मोड़ और बेलसोंडा फाटक के आसपास नकली नोट की सौदेबाजी होने वाली है। सूचना पर एसपी ने तत्काल सिटी कोतवाली और साइबर सेल की संयुक्त टीम गठित की। टीम को दो ग्रुप में बांटा गया। दोनों ही टीम रात को ही मौके पर पहुंच गई थी। एक टीम नदी मोड़ के पास छिपकर इंतजार कर रही थी, जबकि दूसरी टीम संदिग्ध वाहनों पर नजर रख रही थी। वहीं सुबह नेशनल हाइवे पर वाहन चेकिंग अभियान शुरू किया गया। इसी दौरान मुखबीर के बताए हुलिए के अनुसार दो व्यक्ति बाइक में सवार होकर नदी मोड़ की ओर आगे बढ़ते दिखे। तभी घेराबंदी कर बाइक सवार को रोका। पूछताछ के दौरान एक व्यक्ति ने अपना नाम कलाराम उर्फ रामदास एवं दूसरे ने मुन्ना लाल भारती सरसींवा का रहने वाला बताया। टीम ने जब उनके पास रखे झोले की तलाशी ली तो उसमें भारी मात्रा में नोट मिले। पुलिस ने जब नोट की जांच की तो वे नकली थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मामले का खुलासा करते हुए एसपी व पीछे खड़े आरोपी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jOUrCJ

0 komentar