256 नए मरीज मिले, रायपुर में 31 पुलिस जवान समेत 104 पॉजिटिव; आज व कल दो दिन और खुलेंगी राशन की दुकानें , July 31, 2020 at 05:59AM

रायपुर में बुधवार काे पुलिस लाईन व पुलिस क्वार्टर के 31 जवान और कोरोना सेल के दो डॉक्टर समेत रायपुर में 104 कोरोना संक्रमित मिले हैं। पुलिस जवानों के एक साथ पॉजिटिव मिलने से खलबली मच गई है। सभी की जांच एंटीजन किट से हुई है।
प्रदेश में 256 संक्रमितों की पहचान की गई है। इस बीच अंबेडकर अस्पताल में टिकरापारा के 45 वर्षीय कोरोना मरीज की मौत हो गई। रायपुर में यह 23वीं व प्रदेश में 52वीं मौत है। राजनांदगांव से 21, दुर्ग से 13, कोंडागांव से 9, बिलासपुर से 8, जांजगीर-चांपा व बलौदाबाजार से 4-4, कांकेर व नारायणपुर से 3-3, मुंगेली, कोरिया, सूरजपुर, बस्तर व दंतेवाड़ा से 2-2, बेमेतरा, कवर्धा, गरियाबंद, कोरबा, सरगुजा, बलरामपुर व जशपुर से एक-एक मरीज मिले हैं। नए केस मिलाकर प्रदेश में मरीजों की संख्या 8,833 पहुंच गई है। एक्टिव केस 2,884 हैं। जबकि इलाज के बाद 5,921 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। गुरुवार को 285 मरीजों को छुट्‌टी दी गई।
फोरेंसिक मेडिसिन विभाग का जो डॉक्टर संक्रमित हुआ है, वह पहले से संक्रमित एचओडी के साथ पोस्टमार्टम ड्यूटी कर रहा था। फोरेंसिक मेडिसिन विभाग में इसके पूर्व भी दो की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। हालांकि दो डाक्टरों व स्टाफ के पॉजिटिव होने से शवों के पोस्टमार्टम पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। लगातार कोरोना के केस मिलने के बाद डॉक्टर पीपीई किट पहनकर पोस्टमार्टम कर रहे हैं। इससे उनकी सुरक्षा बढ़ गई है। डॉक्टरों ने बताया कि कई बार संदिग्ध मरीजों का पोस्टमार्टम करना पड़ रहा है। मौत के दो-तीन दिन बाद उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आती है। ऐसे में पीपीई किट के बिना वहां ड्यूटी करने से संक्रमण की आशंका बढ़ जाती है।
विभाग के एचओडी व इंटर्न ने पिछले गुरुवार को रानीतराई पाटन से लाए गए एक शव का पोस्टमार्टम किया था। उसी मृतक को संदिग्ध मानते हुए जांच के लिए उनका सैंपल लिया गया था। उनका शक सही था। मृतक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद ही एचओडी व इंटर्न एक के बाद एक कोरोना से संक्रमित हुए हैं। कोरोना से मरने से वाले टिकरापारा के संक्रमित को 28 जुलाई को देर रात अंबेडकर अस्पताल में भर्ती किया गया। बुधवार की देर रात उसकी मौत हो गई। डाक्टरों के अनुसार उसे झटके आते थे और डायबिटीज भी था। पिछले 10 दिनों में प्रदेश में 3,162 मरीज मिल चुके हैं। वहीं रायपुर में 1,490 संक्रमित मिले हैं। यह कुल मरीजों की संख्या का 47 फीसदी है। यानी प्रदेश में सबसे ज्यादा मरीज रायपुर में ही मिल रहे हैं। वहां कुल पॉजिटिव केस 2752 हैं, जिनमें 1391 का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। रायपुर में 23 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि दुर्ग में 8 लोगों की जान गई है। बालोद, बेमेतरा, कवर्धा, गरियाबंद, कोरबा, मुंगेली, पेंड्रा, बलरामपुर, जशपुर, कोंडागांव, दंतेवाड़ा, सुकमा, कांकेर व बीजापुर में कोराेना से कोई मौत नहीं हुई है। अन्य राज्यों के दो लोगों की मौत भी प्रदेश में हुई है।
ज्यादा पॉजिटिव इसलिए लैब में पूल टेस्टिंग बंद : राजधानी समेत प्रदेश में कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे हैं इसलिए एम्स समेत नेहरू मेडिकल काॅलेज, जगदलपुर व रायगढ़ स्थित वायरोलॉजी लैब में पूल टेस्टिंग बंद कर दी गई है। पूल टेस्टिंग में एक साथ 5 सैंपलों की जांच की जाती है, जिससे एक बार में ज्यादा संदिग्धों की जांच हो जाती है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर दाेबारा जांच की जरूरत नहीं पड़ती जबकि नेगेटिव आने पर सभी सैंपल की दोबारा जांच करनी पड़ती है। लगातार नए संक्रमित आने के कारण अस्पतालों में बेड फुल होने लगे हैं। इसलिए एक-एक सैंपल की जांच की जा रही है। पूल टेस्टिंग से ज्यादा पॉजिटिव केस आ सकते हैं, जिससे भर्ती की समस्या हो सकती है। अधिकारियों के अनुसार पूल टेस्टिंग के बिना रोजाना 5 हजार सैंपलों की जांच की जा रही है। इसमें एंटीजन किट व ट्रू नॉट मशीन से जांच भी शामिल है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
त्यौहारी भीड़ ज्यादा होने से कई लोग जरूरत का सामान नहीं खरीद सके। इसलिए रायपुर कलेक्टर डा. एस भारतीदासन ने किराना दुकानों को 31 जुलाई और 1 अगस्त यानी शुक्रवार और शनिवार को भी सुबह 10 बजे तक खोलने का आदेश दिया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2PbvaEB

0 komentar