500 से ज्यादा वेबसाइट हैक; पाक सेना, अर्धसैनिक बलों, एयरोनाॅटिक्स समेत कई साइट हैकर्स के कब्जे में , August 01, 2020 at 06:22AM

प्रमोद साहू | पाकिस्तानी हैकर्स देश में इक्का-दुक्का सरकारी वेबसाइट हैक करते रहते हैं, लेकिन भारतीय हैकर्स ने पाकिस्तान पर तगड़ा साइबर हमला किया है। हैकर्स एंड सिक्योरिटी के नाम से काम कर रहे इन हैकर्स ने पाकिस्तान की सरकारी और निजी मिलाकर 500 से ज्यादा वेबसाइट हैक कर ली हैं। इन वेबसाइट्स को कई दिन से स्कैन किया जा रहा है और पाकिस्तान के काम के कई डेटा डिलीट कर दिए गए हैं। हैक की गईं पाकिस्तानी वेबसाइट्स का संबंध अर्धसैनिक बलों, आंतरिक मंत्रालय और शिक्षा विभाग से है। यह ओपन हैकिंग बताई जा रही है, यानी पाकिस्तानियों को पता चल गया है कि उनकी ज्यादातर सरकारी वेबसाइट हैक कर ली गई हैं।
छत्तीसगढ़ में आईजी रैंक के एक अफसर जो देशभर के साइबर क्राइम और सुरक्षा के विशेषज्ञों के संपर्क में रहते हैं, उन्हें दिल्ली के एक साइबर एक्सपर्ट ने यह जानकारी दी है। भास्कर ने उनके माध्यम से हैकिंग टीम में शामिल लोगों से बात भी की है। उनहोंने बताया कि हैकर्स के कई सारे ग्रुप देश में काम कर रहे हैं, जो देश की सुरक्षा को लेकर अन्य देशों की वेबसाइट पर नजर रखते हैं और जरूरत पड़ने पर इन्हें हैक कर लेते हैं। इसी ग्रुप ने इस बार पाकिस्तान पर साइबर अटैक किया है। उन्होंने एक सर्वर को हैक कर लिया है, जिसमें पाकिस्तान सरकार और निजी प्रमुख वेबसाइट हैं। हर साइट में ढेरों गोपनीय जानकारियां और नंबर हैं, जिन्हें बारीकी से स्कैन किया जा रहा है। काम की चीजें हैकर्स ने रख ली हैं और साइट के बाकी अधिकांश डेटा डिलीट किए जा चुके हैं। इन्हें रीस्टोर करना भी अब मुश्किल है।

पाकिस्तान की ये साइट्स हैक
दिल्ली और चेन्नई में बैठकर इन हैकर्स ने पाकिस्तान सरकार के कई मंत्रालयों की साइट, पैरामिलिट्री फोर्स, गिलगिट बाल्टिस्तान स्काउट, फ्रंटियर कांस्टेबुलरी, पाकिस्तान एयरोनॉटिकल कॉम्प्लेक्स वगैरह को निशाना बनाया है। ये साइट्स अब तक हैकर्स के नियंत्रण में है। सेना और अर्धसैनिक बलों के अलावा हैकर्स ने पाकिस्तान की शिक्षा और रोजगार से संबंधित साइट्स को भी खंगाल लिया है, क्योंकि वहां शिक्षा और रोजगार की आड़ में कई तरह के गैरकानूनी काम चल रहे हैं।

एक्सपर्ट - कई हैकर्स जुटा रहे गोपनीय जानकारी
"देश में कई हैकर्स ग्रुप काम कर रहे हैं, जो दूसरे देशों की साइट्स पर गहरी नजर रखते हैं। सुरक्षा के मद्देनजर गोपनीय जानकारी जुटाने के लिए यह किया गया है। भारतीय हैकर्स ने कुछ दिन पहले भी जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकियों की जानकारी इसी तरह से सरकार तक पहुंचाई थी।"
-सन्नी नेहरा, साइबर एक्सपर्ट दिल्ली



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
प्रतीकात्मक फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33dvkn7

0 komentar