पढ़ाई के 8 इनोवेशन में 5 चुने गए, सीएम भूपेश करेंगे 15 को शुरुआत; शिक्षा विभाग के वेबिनार में जुड़े 35 हजार शिक्षक और अधिकारी-कर्मचारी , July 29, 2020 at 05:56AM

स्कूल शिक्षा विभाग के मंगलवार को हुए ऑनलाइन वेबिनार में 35 हजार से ज्यादा शिक्षक, शिक्षाविद्, अधिकारी-कर्मचारियों ने कोरोना काल में बच्चों की क्लासेस को लेकर अपने नवाचार और अनुभव साझा किए। एससीआरटी के सहयोग से आयोजित वेबिनार में तय किया गया कि शिक्षा में नवाचार को प्राथमिकता दी जाएगी। इसके लिए 5 सुझावों को चुना गया है।
प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने राज्य से संकुल स्तर के अधिकारी व शिक्षकों को कहा कि स्थानीय सुविधा के अनुसार पढ़ाई कराएं। साथ ही जो राशि की जरूरत होगी, वह दी जाएगी। शुक्ला ने बताया कि इस दौरान सामने आए पांच सुझाव को अनुमति देते हुए 15 अगस्त से मुख्यमंत्री से शुभारंभ कराया जाएगा।
सुकमा के आशीष राम, दंतेवाड़ा के महेश कुमार पटले, बस्तर के गणेश तिवारी, रायपुर की सुनीला फ्रैंकलीन, राजनांदगांव की नैना वर्मा, बिलासपुर की प्रतिभा पांडे, कोरिया के सी. स्माइल और सूरजपुर के गौतम शर्मा ने अपने-अपने जिलों में अपनाए जा रहे नवाचारों के संबंध में बताया। लोक शिक्षण संचालक जितेंद्र शुक्ला ने बताया कि वेबिनार “मुमकिन है’ में 35 हजार से ज्यादा शिक्षक और अधिकारी-कर्मचारी जुड़े। वेबिनार में कोरोना काल में बच्चों को कैसे शिक्षा दी जाए, क्या माध्यम हो सकता है, इन तमाम विषयों पर चर्चा हुई। प्रदेश के विभिन्न जगहों में कही विकल्प के तौर पर शिक्षा पढ़ाई करा रहे हैं, वे अपना अनुभव साझा किए। कई जिलों में गली-मोहल्लों गांव में जाकर बच्चों को शिक्षा दे रहे हैं। आज जो सुझाव मिले हैं, उसमें से जो कारगर हैं, उन सुझावों के आधार पर विचार-विमर्श कर प्रदेश में लागू किया जाएगा। वेबिनार का संचालन डॉ. एम. सुधीश व प्रशांत कुमार पांडेय ने किया।
समाज के लोगों और लाउड स्पीकर की मदद से पढ़ाने पर जोर
1. गली-मोहल्ले में सामुदायिक सहायता से पढ़ाई। दो गज की दूरी का पालन कर बच्चे बैठेंगे।

2. लाउड स्पीकर से बच्चों को पढ़ाया जाएगा और वे अपने घर के सामने बैठकर सुनेंगे।

3. ब्लूटूथ से ऑडियो फाइल शिक्षा विभाग की वेबसाइट से मोबाइल पर भेजा जा सकता है।

3. नया मोबाइल एप बनाया जाएगा जिसे इंस्टॉल करने के बाद ऑफलाइन पढ़ाई की जा सकेगी।

4. कॉल सेंटर के माध्यम से शिक्षा दी जाएगी। बच्चे किसी भी माध्यम से सेंटर में कॉल कर सकेंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/39DlKel

0 komentar