जशपुर में संसदीय सचिव चिंतामणी महराज को आया गुस्सा, जनपद पंचायत सीईओ से कहा- गलत शब्दों का उपयोग न करें , July 21, 2020 at 01:01PM

जिले में गोधन न्याय योजना का शुभारंभ करने पंहुचे संसदीय सचिव चिंतामणी महराज को गुस्सा आ गया। उन्होंने जनपद पंचायत के सीईओ को उंगली दिखाकर कहा- गलत शब्दों का इस्तेमाल मत करिए। सोमवार को हरेली के अवसर पर जिले के गोधन योजना प्रभारी चिंतामणी महराज योजना की शुरुवात करने के लिए मनोरा विकासखंड के रेमने गांव में पंहुचे थे। कार्यक्रम में शामिल होने के बाद चिंतामणी महराज वापस जाने के लिए अपने वाहन में बैठ रहे थे उसी दौरान कलेक्टर महावदेव कावरे ने संसदीय सचिव से भोजन करने का निवेदन किया। इसी बीच मनोरा जनपद पंचायत के सीईओ अनिल तिवारी की बात सुनकर चिंतामणी गुस्से में आ गए।


तिवारी ने कहा कि महोदय भोजन कर लिजिए, भोजन आपके समाज के लोगों के द्वारा ही तैयार किया गया है । गाड़ी की तरफ बढ़ चुके संसदीय सचिव यह सुनकर पलटे और कहा - आपके सामज और आपके लोगों के द्वारा भोजन तैयार किया गया है इसका क्या मतलब है,ऐसी बात कहना उचित नहीं है,यह गलत तरीका है। सीईओ ने जिस समय संसदीय सचिव से भोजन के लिए कहा उस समय मौके पर जशपुर विधायक विनय भगत,कांग्रेस जिलाध्यक्ष मनोज सागर यादव,कलेक्टर महादेव कावरे सहित जिले के अन्य अधिकारी कर्मचारी भी मौके पर उपस्थित थे। गुस्से को देख सीईओ ने सॉरी कहा। चिंतामणी महराज वहां से चले गए। इस घटना का वीडियो अब सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर जशपुर की है। चिंतामंणी महराज का यह तेवर देखकर मौके पर मौजूद अन्य विधायक और अधिकारी चौंक गए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/32CxIDR

0 komentar