शहर के हजार मरीजों से ही अस्पताल पैक, लालपुर सेंटर खोला, इंडोर स्टेडियम भी आज से खोला जाएगा , July 25, 2020 at 06:12AM

राजधानी में लगातार दूसरे दिन भी ढाई सौ मरीज मिलने से कोविड सेंटरों में इलाज का सिस्टम ही वेंटिलेटर पर जाने की स्थिति में है। शुक्रवार की रात तक अंबेडकर अस्पताल, एम्स और माना कोविड सेंटर फुल हो चुके हैं। आनन-फानन में शुक्रवार को लालपुर अस्पताल खोला गया, जहां शाम तक 13 मरीज भर्ती कर लिए गए। रावांभाठा एसआईसी सेंटर में 34 मरीज एडमिट किए गए हैं। शुक्रवार को नए मिले मरीजों की वजह से शनिवार को इंडोर स्टेडियम का कोविड सेंटर इमरजेंसी में खोलना पड़ सकता है। स्वास्थ्य विभाग ने आनन-फानन में आयुर्वेदिक कालेज अस्पताल को कोविड सेंटर में बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। यही नहीं, रायपुर के दो निजी अस्पतालों में भी कोविड का इलाज मरीजों के खर्च पर एक-दो दिन में ही शुरू हो सकता है। केवल राजधानी में मरीजों की संख्या 2 हजार के करीब पहुंच रही है, इसलिए अचानक अस्पतालों में बेड का संकट आ गया है। एम्स में गंभीर मरीजों को छोड़कर 400 से ज्यादा बेड हैं, जिनमें 357 मरीज भर्ती हैं। मेडिकल कॉलेज यानी अंबेडकर अस्पताल के 500 बेड में गंभीर मरीजों के लिए गुंजाइश छोड़कर 450 मरीज भर्ती किए जा चुके हैं। माना में 80 बेड थे, जिसे बढ़ाकर 100 किया गया और सभी में मरीज भर्ती हो चुके हैं। लालपुर अस्पताल तुरंत खोला गया, वहां 13 मरीज हैं, इसी तरह रावांभाठा ईएसआईसी गायत्री अस्पताल में 34 मरीज भर्ती हैं। इन्हीं अस्पतालों में ढाई-तीन सौ मरीज एडमिट करने की क्षमता बची है। हेल्थ अफसरों का भी मानना है कि शुक्रवार को मिले मरीजों से शनिवार को सारे अस्पताल फुल हो जाएंगे। ऐसे में वैकल्पिक इंतजाम 24 घंटे के भीतर करने की स्थिति आ गई है।

राजधानी हॉटस्पाट
मंगलबाजार:
पांच दिन में ही 69 मरीज मिले हैं। यहां लगातार मरीज मिल रहे हैं। शुक्रवार को 28 से ज्यादा और मरीज मिले हैं। हालांकि आशंका के विपरीत अब केस कम हो रहे हैं।
भाठागांव: 10 दिन में 50 से ज्यादा मरीज मिले हैं। यहां पिछले हफ्ते एक कोरोना पाजिटिव महिला की मृत्यु हुई और गमी में आए लोगों में से काफी लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं।
शांतिनगर: अभी तक शांतिनगर और शंकर नगर में 50 से ज्यादा केस मिल गए हैं। शुक्रवार को ही इन्हीं इलाकों में 17 मरीज सामने आए हैं। दोनों जगह सघन जांच चल रही है।
शदाणी दरबार: दो दिन के भीतर यहां के संत युधिष्ठिर लाल समेत 20 नए मरीज मिल चुके हैं। गुरुवार को ही 18 नए मरीज मिले थे। पहले ही दिन से दरबार हाॅटस्पाॅट बन गया है।
पंडरी का शोरूम : अब तक 20 से ज्यादा कर्मचारी संक्रमित मिले हैं। शोरूम सील है पर शहर की 300 से ज्यादा महिलाएं और उनका परिवार बेचैन हैं क्योंकि वे शोरूम में गई थीं।

दो नए सेंटरों से ही शहर में बढ़ेंगे 350 बेड
राजधानी में शनिवार या रविवार से इंडोर स्टेडियम का कोविड सेंटर शुरू किया जा रहा है। यहां सामान्य लक्षण वाले मरीज ही रहेंगे। तीन-चार दिन में आयुर्वेदिक कॉलेज अस्पताल में भी बिना लक्षण वाले मरीजों की भर्ती शुरू होने की संभावना है। इन दोनों सेंटरों से 350 बेड बढ़ जाएंगे, जिसमें स्टेडियम में 250 व आयुर्वेद कॉलेज में 100 बेड होंगे। इसके बाद राजधानी में कोविड पेशेंट के लिए 7 अस्पताल-सेंटर हो जाएंगे, जिनमें 1300 मरीज एक साथ भर्ती किए जा सकेंगे।

अस्पताल फुल, बेड बढ़ेंगे
"मरीजों की संख्या अचानक बढ़ी है, इसलिए बेड फुल हो गए। इंडोर स्टेडियम व आयुर्वेदिक कॉलेज में भी कोविड मरीजों को भर्ती करने की सुविधा बना रहे हैं।"
-डॉ. मीरा बघेल, सीएमएचआ रायपुर



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
राजधानी स्थित इंडोर स्टेडियम।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jHonki

0 komentar