गोबर बेचने वालों को हर हाल में दो हफ्ते में करना होगा भुगतान, रायपुर में मुख्य सचिव ने अधिकारियों को चेताया , July 25, 2020 at 09:30PM

राज्य में गोधन न्याय योजना में गोबर बेचने वालों को हर हाल में दो हफ्ते में भुगतान कर दिया जाएगा। पहला भुगतान 5 अगस्त को ही होगा। इसकी मानिटरिंग के लिए सीएस आरपी मंडल ने एक कमेटी भी बना दी है। इसमें एसीएस वित्त अमिताभ जैन अध्यक्ष हैं। पीएस पंचायत गौरव द्विवेदी, कृषि सचिव एम. गीता, सहकारिता सचिव प्रसन्ना आर. भी कमेटी में हैं। इसके अलावा स्थानीय लोगों को इस कार्य के लिए नोडल बनाया जा रहा है।

ये कमेटी कलेक्टर से कॉन्टेक्ट करके कितने लोगों का भुगतान करना है, कितनी राशि भुगतान करनी है इन सबकी मॉनिटरिंग करेगी। किसी भी कीमत पर 15 वें दिन भुगतान हितग्राही के खाते में जमा हो यह तय करेंगे। सीएस ने अधिकारियों एवं बैंकर्स को सचेत किया कि किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जावेगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशा के अनुरूप सीधे खाते में पैसा जाना चाहिए। तेन्दूपत्ता के हितग्राहियों के खाते में सीधा भुगतान होता है, धान खरीदी के समय हितग्राहियों के खाते में सीधा भुगतान होता है, ठीक उसी तर्ज पर सीधा पैसा गोबर के हितग्राहियों के खाते पहुंचाना होगा।


मंडल ने शनिवार को राजधानी में चिप्स कार्यालय में योजना की राज्य रिपोर्ट अफसरों से ली। एसीएस जैन, सचिव कृषि गीता, सचिव सहकारिता प्रसन्ना, हिमशिखर गुप्ता पंजीयक सहकारी संस्थाएं तथा सभी बैंकर्स भी बैठक में शामिल हुए। मंडल ने अफसरों को होमवर्क दिया कि गोठान समितियां पूरी तरह सक्रिय रहे। इसके अलावा वहां के स्थानीय लोगों को इस कार्य के लिए नोडल बनाएं। गोबर हितग्राही का खाता नहीं खुला है तो खाता खुलवाएं। किसी भी कीमत पर नगद भुगतान नहीं होगा। उनके खाते में भुगतान सीधा जमा होगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर रायपुर की है। चिप्स ऑफिस में हुई बैठक में मुख्य सचिव ने अधिकारियों को अन्य योजनाओं में भी पारदर्शिता के साथ काम करने को कहा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/30JlwP3

0 komentar