बढ़ रहे हैं मरीज इसलिए निजी अस्पताल भी तैयार , July 26, 2020 at 05:34AM

बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों का इलाज अब निजी अस्पतालों में भी किया जाएगा। रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, कोरबा और सरगुजा के बाद जिले में भी इसकी तैयारी की जा रही है। इस संबंध में डायरेक्टर हेल्थ ने कलेक्टर व सीएमएचओ को पत्र जारी किया है। निजी अस्पताल में भर्ती मरीजों को इलाज का खर्च खुद उठाना पड़ेगा। अस्पतालों को आईसीएमआर द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करना पड़ेगा।
जिले में सरकारी कोविड-19 अस्पताल में पहले 100 बेड की व्यवस्था थी। इसके बाद बढ़ते संक्रमण को देखते हुए मेडिकल कॉलेज के नजदीक ही 200 बेड का नया अस्पताल भी तैयार है। कुल मिलाकर सरकारी अस्पताल में 300 बेड हैं। प्रदेश में जिस तरह से संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है उसे निजी अस्पतालों को भी तैयार किया जा रहा है। आईसीएमआर गाइडलाइन के मुताबिक निजी अस्पताल में अगर कोविड-19 मरीजों का इलाज होगा तो एहतियात बरतने पड़ेंगे। इसमें मरीजों का अलग प्रवेश द्वार, डॉक्टर व स्टाफ को पीपीई किट पहनना जरूरी होगी। कोरोना वार्ड या कमरे दूसरे मरीजों से अलग और सुरक्षित दूरी पर रखने होंगे । टॉयलेट की अलग व्यवस्था करनी होगी।

प्राइवेट हॉस्पिटलों में भी बेड रिजर्व
मार्च में संक्रमण के बढ़ने के बाद शहर के जिंदल फोर्टिस, मेट्रो बालाजी, अपेक्स हॉस्पिटल के कुछ बेड को आरक्षित रखे गए हैं। इन अस्पतालों में 9 से 12 बेड अलग रखे गए हैं। इसकी व्यवस्था भी अलग से कर रखी है। अब प्राइवेट हॉस्पिटल प्रबंधनों का कहना है कि हर हॉस्पिटलों को अलग-अलग कैटेगरी में रखकर उन्हें इसके चार्ज तय करना चाहिए, तभी इलाज हो सकेगा। फोर्टिस हॉस्पिटल में अभी 70 बेड हैं जिनमें 10 बेड कोरोना मरीज के लिए तैयार रखे गए हैं।

अगस्त में मरीज बढ़ने की आशंका अस्पताल में है इलाज की व्यवस्था
"अस्पताल में कोरोना के इलाज के लिए अलग से व्यवस्था करना जरूरी होगा, इसके लिए अलग-अलग कैटेगरी में हॉस्पिटलों को बांटकर चार्ज तय करना चाहिए । अभी जैसी हालत दिख रही है, अगर कंट्रोल नहीं किया गया तो अगस्त में मरीजों की संख्या बढ़ेगी । अभी अस्पताल में 100 बेड हैं। कोविड मरीज के लिए अभी छह बेड अलग रखे हैं।''
-डॉ प्रकाश मिश्रा, डायरेक्टर, मेट्रो बालाजी हॉस्पिटल

आदेश मिला नहीं है, गाइडलाइन के बाद कुछ कह सकते हैं
"हमें पहले हॉस्पिटल में अलग से व्यवस्था करने के लिए कहा गया था। 12 बेड अलग रखे हैं। प्राइवेट हॉस्पिटलों में इलाज के लिए गाइडलाइन आएगी तो उसे देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। अभी हॉस्पिटल 120 बेड का है। कोविड हॉस्पिटल में पूरी व्यवस्था अलग से करनी होगी, अगर जरूरत पड़ी तो इलाज जरूर करेंगे।''
-मनोज गोयल, डायरेक्टर, अपेक्स हॉस्पिटल

अभी सरकारी हॉस्पिटलों में कोरोना मरीज के लिए पर्याप्त बेड हैं
"अभी हमने जो हॉस्पिटल तैयार किया है उसमें अब तक पर्याप्त बेड हैं, उसमें मरीजों को रखा जा रहा है। यदि जरूरत पड़ती है तो प्राइवेट हॉस्पिटलों में भी मरीजों का इलाज कराया जा सकता है। इसका आदेश आ गया है, इसमें प्राइवेट हॉस्पिटलों से अनुबंध करना है। इसके बाद इलाज शुरू होगा।"
-डॉ एसएन केशरी, सीएमएचओ



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jFBwu1

0 komentar