296 साल पुराना मंदिर 3 सेकंड में ढह गया, गांव के बुजुर्गों ने गुड और चूने से बनवाया था , August 21, 2020 at 07:02AM

सन 1724 में बना एक मंदिर गुरुवार को भरभरा कर गिर गया। जर्जर हो चुके मंदिर का एक बड़ा हिस्सा खुद ही टूटकर जमींदोज हो गया। मंदिर की ऊंची इमारत से यह हिस्सा ऐसे गिरा मानो किसी केक से जैसे स्लाइस अलग होती है। गांव के लोगों ने इस घटना को मोबाइल फोन के कैमरे में कैद कर लिया। स्थानीय लोगों ने बताया कि जैजैपुर विकास खंड के जमड़ी गांव में यह मंदिर गांव शुक्ला परिवार ने बनवाया था।

ह भगवान शंकर का मंदिर था। मंदिर के पास नवा तरिया नाम का तालाब भी है। मंदिर के बारे में गांव के सौरभ शुक्ला ने बताया कि उनके पूर्वजों ने गुड़, चूने को मिला इस मंदिर को तैयार किया तब सीमेंट नहीं होता था, इसी तरह पुरानी इमारतें बनती थीं। मंदिर में भगवान शंकर के अलावा पार्वती, कार्तिकेय, भगवान गणेश व हनुमान की भी प्रतिमा हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर जांजगीर के उसी मंदिर कि है जहां हादसा हुआ। मंदिर का ये हिस्सा पूरी तरह से अलग होकर नीचे गिर गया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2En9Tpc

0 komentar