ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू हो सकता है छत्तीसगढ़ की विधानसभा में, इस बार खाने और आम लोगों के प्रवेेश पर होगा प्रतिबंध , August 02, 2020 at 08:59PM

छत्तीसगढ़ की विधानसभा में कोरोना संक्रमण के खतरे की वजह से इस बार खाने का बंदोबस्त नहीं होगा। आम लोगों के यहां आने और जन प्रतिनिधियों से मिलने पर भी रोक होगी। रविवार को छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने विधानसभा परिसर पहुँचकर तैयारी का जायजा लिया। 25 अगस्त से 28 अगस्त तक सदन की कार्यवाही चलेगी। डॉ महंत ने कहा कि सदन एवं विधानसभा परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग एवं केन्द्र तथा राज्य सरकार द्वारा कोरोना काल के निर्धारित प्रोटोकाल का पूर्णतः पालन किया जाएगा। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को भी निर्देश दिए।


इस तरह के होंगे बंदोबस्त
विधानसभा के प्रमुख सचिव चन्द्र शेखर गंगराड़े ने दैनिक भास्कर को बताया कि इस सदन में इस बार कोई भी ऐसा काम नहीं होगा जिससे भीड़ बढ़े। इस बार कैंटिन और खाने की व्यवस्था पर रोक लगाई गई है। उन्होंने कहा कि कोई भी इन दिनों बाहर नहीं खाना चाहता। खाना तभी रखते हैं जब बिना लंच ब्रेक के कार्रवाई चलती है, क्योंकि फिर होटल के लोग कैटरर्स, वेटर वगैरह आते हैं इससे भीड़ होती है। पूरे कैंपस में सफाई और सैनिटाइजेशन का काम होता रहेगा।


बैठक को लेकर प्रमुख सचिव ने बताया कि इस बार ऑड-ईवन फॉर्मूले पर विचार किया जा रहा है। प्रदेश के सभी 90 विधायकों की मौजूदगी सदन की कार्यवाही के दौरान होती है। फर्स्ट हाफ में आसन क्रमांक 1, 3, 5 इस तरह से विषम नंबर की सीट वाले विधायकों को बैठाया जा सकता है। दूसरी पाली में सम संख्या जैसे 2, 4, 6 इस तरह के आसन क्रमांक वाले विधायकों को प्रवेश पर अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा सीट पर ग्लास या प्लास्टिक के पार्टिशन लगाने पर भी चर्चा की जा रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर छत्तीसगढ़ की विधानसभा की है। विधानसभा सचिवालय के अधिकारियों के साथ अध्यक्ष चरणदास महंत ने चर्चा की। कई तरह के सुझाव सचिवालय को मिले हैं, जिनपर जल्द ही फैसला लिया जाएगा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2DeUMhB

0 komentar