इलाज की पर्ची दिखाकर पुलिस से परिजन घंटेभर गिड़गिड़ाते रहे, फिर भी नहीं जाने दिया, रास्ते में हो गई मौत , August 03, 2020 at 06:03AM

कोरोना के संकट के चलते जहां एक तरफ ज्यादातर पुलिसकर्मी जोखिम उठाकर ईमानदारी से ड्यूटी कर रहे हैं तो कुछ ऐसे पुलिसकर्मी भी हैं, जिनके कारण पुलिस की छवि खराब हो रही है। सूरजपुर में चेकपोस्ट पर तैनात पुलिसकर्मियों के अमानवीय व्यवहार के चलते बीमार महिला की जान चली गई।
बलरामपुर जिले के वाड्रफनगर ब्लॉक के गैना निवासी रामाधार पनिक की पत्नी बिहानि को रविवार को तेज बुखार था। परिजन उसे अंबिकापुर ले जा रहे थे। इस दौरान रेवटी चेक पोस्ट पर पुलिस ने परिजन से पास मांगा तो परिजन ने डॉक्टर की दी पर्ची दिखाई। लेकिन पुलिसकर्मी नहीं माने। इस दौरान लगभग एक घंटे महिला के परिजन पुलिसकर्मियों के सामने गिड़गिड़ाते रहे। इसके बाद घर लौटते समय गांव से करीब 10 किमी पहले महिला की मौत हो गई। तो ड्राइवर लाश छोड़कर भाग गया। लाश करीब एक घंटे सड़क पर पड़ी रही। परिजन किसी तरह ट्रैक्टर-ट्रॉली से शव घर ले गए।

बलरामपुर कलेक्टर ने लिया था गैना गांव का जायजा
तीन दिन पहले बलरामपुर कलेक्टर ने गैना गांव में स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया था। उन्होंने पिछले साल जिस परिवार में तीन लोगों की मौत हुई थी उसके सदस्यों से मुलाकात की थी। इस गांव में दो दिन पहले ही एक आदमी की डायरिया से मौत हो गई थी।

सूरजपुर पुलिस को उसे नहीं रोकना चाहिए था: एसपी
बलरामपुर एसपी रामकृष्ण साहू ने कहा कि इसकी शिकायत मुझे मिली है। अगर पीड़ित की स्थिति नाजुक थी तो उसे सूरजपुर पुलिस द्वारा नहीं रोका जाना चाहिए था। हमने पीड़ित परिवार के पास शासकीय वाहन भेज कर लाश घर तक पहुंचाने की व्यवस्था करवाई थी।

सीमाओं पर सूरजपुर पुलिस की इस तरह की शिकायतें आम, पैसे की करते हैं मांग
जबकि उनके पास हॉस्पिटल में इलाज की पर्ची थी। रेवटी पुलिस चेक पोस्ट में उनसे कहा गया कि पास दो अन्यथा अस्पताल नहीं जाने देंगे। परिजन काफी परेशान रहे। घंटों इंतजार करने के बाद पुलिस ने उन्हें वापस कर दिया। परिजन पीड़ित को लेकर वापस जा रहे थे। इसी दौरान मौत हो गई। जिसके बाद वाहन चालक भी उन्हें आधे रास्ते में उतार कर भाग निकला। जिले की सीमाओं पर सूरजपुर पुलिस की इस तरह की शिकायतें आम हैं। राहगीरों से पास नहीं होने के बाद उनसे पैसे की मांग कर जिले में प्रवेश दिया जाता है। ऐसी कई शिकायतें हैं।

गांव जा रहा हूं मृतक के परिजन से जानकारी लूंगा
सूरजपुर एसपी राजेश कुकरेजा ने कहा कि शिकायत मिली है। मैंने रेवटी चेक पोस्ट में तैनात चौकी प्रभारी तिवारी और आरएचओ से बात की है। उन्होंने बताया है कि किसी मरीज को उन्होंने वापस नहीं भेजा है। इस चेक पोस्ट में सिर्फ यूपी से आने वाले लोगों को रोका जा रहा है। उनसे पास मांगा जा रहा है। एसडीओपी को मौके पर गैना गांव भेजा है। उसके परिजनों से बात करने के लिए, मैं भी खुद मौके पर जा रहा हूं।

रेवटी चेकपोस्ट पर इन कर्मचारियों की ड्यूटी थी
एसपी ने बताया कि चेकपोस्ट में राजस्व विभाग के पटवारी, स्वास्थ्य विभाग के आरएचओ और चौकी प्रभारी की ड्यूटी थी। इसके अलावा अन्य पुलिस कर्मी भी थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
महिला की लाश को छोड़कर भाग गया वाहन चालक।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fgZDvG

0 komentar