सड़कों पर वीएचपी-कांग्रेस की होर्डिंग, जुबान पर तीखे स्वर; कांग्रेस बोली- पीएम मोदी का मंदिर निर्माण में कोई योगदान नहीं, भाजपा ने बताया विधर्मी , August 05, 2020 at 08:40AM

अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के शिलान्यास से पहले छत्तीसगढ़ में उनकी ननिहाल राममय हो गई है। रायपुर में विश्व हिंदू परिषद और कांग्रेस ने जगह-जगह होर्डिंग लगाकर मंदिर निर्माण की बधाई दी है। दूसरी ओर कांग्रेस और भाजपा के बीच जुबानी जंग भी तेज हो गई है। कांग्रेस ने कहा, मंदिर निर्माण में पीएम मोदी की कोई भूमिका नहीं। वहीं भाजपा ने कांग्रेस को विधर्मी बताया है।

मंदिर निर्माण में प्रधानमंत्री मोदी की कोई भूमिका नहीं
संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने कहा, मंदिर निर्माण में पीएम मोदी की कोई भूमिका नहीं है। उन्होंने केवल देश को गुमराह किया और राजनीतिक रंग देते रहे। वहीं कांग्रेस ने देश में हमेशा धर्म निरपेक्षता का परिचय दिया है। राजीव गांधी ने राम मंदिर के लिए पहली आधारशिला रखी। बावजूद कभी राजनीतिक फायदा नहीं उठाया। कहा, राजीव के उदार हिंदुत्व को लेकर भाजपा और उसके संगठन चिंतित थे।

मुख्यमंत्री ने प्रियंका गांधी के ट्वीट को किया रीट्वीट, लिखा-जय सियाराम
दूसरी ओर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा है- जय सियाराम। प्रियंका ने ट्वीट किया है- सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु राम नाम का सार है। राम सबमें हैं, राम सबके साथ हैं। भगवान राम और माता सीता के संदेश और उनकी कृपा के साथ रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बने।

भाजपा का वार- विधर्मी भी अब भगवान राम को स्वीकार कर रहे
छत्तीसगढ़ में हो रहे आयोजन को लेकर वरिष्ठ भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल ने कहा, भगवान राम के प्रभाव से विधर्मी भी अब राम को स्वीकार कर रहे हैं। जो लोग राम भगवान के अस्तित्व को नकारते थे, जो सुप्रीम कोर्ट में मंदिर के खिलाफ खड़े थे, रामसेतु के अस्तित्व में नहीं होने की बात कहते थे। आज वह उन्हें आराध्य बता रहे हैं। इससे बड़ी खुशी की बात और कुछ नहीं हो सकती कि विधर्मीयों को भी भगवान राम के अस्तित्व को स्वीकार करना पड़ रहा है।

कांग्रेसियों के लिए 5 अगस्त प्रायश्चित, पश्चाताप का दिन
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कहा, कांग्रेसियों के लिए 5 अगस्त, पश्चाताप और प्रायश्चित का दिन है। कांग्रेसी कभी भाजपा से सवाल करते थे कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे, लेकिन तारीख नहीं बताएंगे। जिस राम को, जिस रामसेतु को कांग्रेसियों ने काल्पनिक कहा, यहां तक कि मंदिर के नाम पर लगातार विरोध करते रहे। अब जब मंदिर का निर्माण हो रहा है, तो धर्म की राजनीति कर रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अयोध्या में भगवान राम के मंदिर के शिलान्यास से पहले छत्तीसगढ़ में उनकी ननिहाल राममय हो गई है। रायपुर में विश्व हिंदू परिषद और कांग्रेस ने जगह-जगह होर्डिंग लगाकर मंदिर निर्माण की बधाई दी है। ये तस्वीर रायपुर के घड़ी चौक की है। जहां एक ओर वीएचपी और दूसरी ओर कांग्रेस की होर्डिंग लगी है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/30stlcV

0 komentar