अयोध्या में भूमि पूजन, रायपुर के राम मंदिरों में गूंजेंगे भजन, ननिहाल में सुंदरकांड का पाठ; दूधाधारी मठ से भजन प्रभात से शुरुआत , August 05, 2020 at 10:29AM

अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर शिलान्यास में महज कुछ घंटे ही बाकी रह गए हैं। ऐसे में भगवान राम के ननिहाल कौशलपुर (छत्तीसगढ़) में भी उत्सव की तैयारी है। रायपुर के पास चंदखुरी स्थित माता कौशल्या के मंदिर में पूरे दिन राम रक्षा स्रोत का पाठ होगा। वहीं राम मंदिर भजन से गूंजते रहेंगे। दूसरी ओर मंदिरों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इस बीच दूधाधारी मठ भजन प्रभात की शुरुआत हो गई है।

रायपुर स्थित दूधाधारी मठ में बुधवार को भजन प्रभात की शुरुआत हो गई है। इसमें मठ के महंत रामसुंदर दास जी के 21 ब्राह्मण पूजन और आरती कर रहे हैं। कौशल्या के राम के नाम इस भजन प्रभात में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय भी पहुंचे और पूजन में शामिल हुए।

मठ में 21 ब्राह्मणों ने किया पूजन, संसदीय सचिव विकास पहुंचे
रायपुर स्थित दूधाधारी मठ में बुधवार को भजन प्रभात की शुरुआत हो गई है। इसमें मठ के महंत रामसुंदर दास जी के 21 ब्राह्मण पूजन और आरती कर रहे हैं। कौशल्या के राम के नाम इस भजन प्रभात में संसदीय सचिव विकास उपाध्याय भी पहुंचे और पूजन में शामिल हुए। उनके साथ कई कांग्रेस कार्यकर्ता भी थे। इसके बाद शहर में दिवाली मनाई जाएगी।

राम मंदिर में जलेंगे 9000 दिये, होगी आतिशबाजी
कोरोना संक्रमण को देखते हुए मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने को कहा गया है। मंडलियों को कुछ स्थानों पर भजन गाने की अनुमति दी गई है। वीआईपी रोड स्थित राम मंदिर में शाम 6 बजे 9 हजार दीये जलाए जाएंगे। यहां राम स्तुति होगी। रात 9 बजे आरती और उसके बाद विशेष आतिशबाजी की जाएगी। संक्रमण को देखते हुए मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ नहीं होगी।

वीआईपी रोड स्थित राम मंदिर में शाम 6 बजे 9 हजार दीये जलाए जाएंगे। यहां राम स्तुति होगी। रात 9 बजे आरती और उसके बाद विशेष आतिशबाजी की जाएगी।

ननिहाल चंदखुरी में गूंजेंगी बालकांड की चौपाइयां
जिस समय अयोध्या में भूमिपूजन होगा, तब चंदखुरी मंदिर में सुंदरकांड, बालकांड और हनुमान चालीसा की चौपाइयां गूंजेंगीं। रात में मंदिर परिसर दीपों से रोशन किया जाएगा। पुजारी गणेश शर्मा ने बताया कि अयोध्या में मंदिर बनने की खुशी पूरे गांव में छाई है। इसी खुशी में सुंदरकांड पाठ होगा। रात में दीप प्रज्जवलन के बाद प्रसाद बांटा जाएगा।

राम को राजगद्दी सौंपकर कौशल प्रदेश आ गई थीं तीनों माएं
स्थानीय लोग बताते हैं कि श्रीराम को राजगद्दी सौंपकर माता कौशल्या, माता कैकेयी और माता सुमित्रा कौशल प्रदेश आ गई थीं। माता कौशल्या का मंदिर जलसेन तालाब के बीच में स्थित है। यह तालाब करीब 16 एकड़ में फैला है। मंदिर के गर्भगृह में मां कौशल्या की गोद में बालरूप में भगवान श्रीराम की प्रतिमा है। गांव से कुछ दूर नगपुरा गांव में माता कैकेयी और माता सुमित्रा के मंदिर भी हैं।

जिस समय अयोध्या में भूमिपूजन होगा, तब चंदखुरी मंदिर में सुंदरकांड, बालकांड और हनुमान चालीसा की चौपाइयां गूंजेंगीं। रात में मंदिर परिसर दीपों से रोशन किया जाएगा।

पूर्व सीएम रमन सिंह ने कहा- दिवाली जैसा उत्सव मनाएं
पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस अवसर पर आम जनता के लिए एक वीडियो संदेश जारी किया है। इसमें उन्होंने सभी को दीपावली की तरह राम मंदिर शिलान्यास एक उत्सव के रूप में मनाने के लिए कहा है। पूर्व सीएम ने कहा, 500 साल बाद यह अवसर आया है। छत्तीसगढ़ भगवान राम का ननिहाल है। इसलिए भी अयोध्या की तर्ज पर प्रदेश में अपने मोहल्ले और गली-गली को भगवा ध्वज से सजाएं।

मंदिरों की सुरक्षा बढ़ाई गई, 500 जवान तैनात
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजन के मद्देनजर रायपुर के सभी राम मंदिरों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। करीब 500 पुलिस जवान और अधिकारी तैनात रहेंगे। इसके साथ ही सभी सीएसपी को पेट्रोलिंग करने की जिम्मेदारी दी गई है। एसएसपी अजय यादव ने शहर के सभी सीएसपी की मंगलवार को बैठक ली थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर शिलान्यास में महज कुछ घंटे ही बाकी रह गए हैं। ऐसे में भगवान राम के ननिहाल कौशलपुर (छत्तीसगढ़) में भी उत्सव की तैयारी है। रायपुर के पास चंदखुरी स्थित माता कौशल्या के मंदिर में पूरे दिन राम रक्षा स्रोत का पाठ होगा इस बीच दूधाधारी मठ भजन प्रभात की शुरुआत हो गई है। 


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3i78ORa

0 komentar