केंद्र के राम वनगमन सर्किट में छत्तीसगढ़ का कोई भी स्थान शामिल नहीं , August 07, 2020 at 05:35AM

केंद्र सरकार के राम वनगमन सर्किट में छत्तीसगढ़ के किसी स्थान को शामिल नहीं करने पर अब राज्य सरकार व भाजपा आमने-सामने आ गई है। कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा है कि छत्तीसगढ़ से भाजपा के इतने सांसद हैं। केंद्र की सरकार हमारी भी सरकार है, इसलिए हमें भी उम्मीद है। इसके जवाब में भाजपा सांसद सुनील सोनी ने कहा है कि राज्य सरकार ने प्रोजेक्ट तैयार कर लिया।

इसके लिए बजट भी बता दिया, फिर बीच में केंद्र कहां से आया। वरिष्ठ मंत्री चौबे ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत में कहा कि राज्य सरकार ने राम वनगमन पथ के लिए डिटेल प्रोजेक्ट तैयार कर लिया है। इसके लिए राशि स्वीकृत कर दी है। टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। उम्मीद है कि केंद्र सरकार राम वन गमन सर्किट में छत्तीसगढ़ को शामिल करेगी।

इसके जवाब में रायपुर के सांसद सोनी ने कहा कि 14 माह में सीएम या किसी मंत्री ने किसी प्रोजेक्ट को लेकर बात नहीं की है। वे केंद्र की योजना को छत्तीसगढ़ लाने के लिए सांसद बने हैं, रोकने के लिए नहीं, लेकिन राज्य सरकार को संवाद करना चाहिए। केंद्र पर आरोप लगाना बेइमानी है।

मंदिर का फैसला कोर्ट का, श्रेय मोदी को दे रहे भाजपाई: कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा है कि राम मंदिर का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने किया है लेकिन भाजपा पूरा श्रेय पीएम मोदी को देने में लगे हैं। यह किसी राजनीतिक पार्टी या स्वयंसेवी संगठन द्वारा लिया गया फैसला नहीं था। पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह को यह बताना चाहिए कि मंदिर निर्माण का श्रेय बीजेपी को जाता है तो यहां से किसी को आमंत्रित क्यों नहीं किया गया।

अंत समय में रावण ने भी जय श्री राम कहा था, कांग्रेसी भी जप रहे

भाजयुमो नेता अनुराग अग्रवाल व उमेश घोरमोड़े ने कांग्रेस की तुलना फिर कालनेमि राक्षस से की है। नेताओं ने कहा कि इतिहास गवाह है कि अंत समय में रावण ने भी जय श्री राम कहा था, क्योंकि मुक्ति का द्वार भी यही है। कांग्रेस नेताओं को 400 से 44 सीटों पर आते ही राम याद आने लगे हैं। श्रेय लेने के लिए राम नाम जपने वाले कालनेमि (कांग्रेस) को जनता भलीभांति पहचानती है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2F2EnNX

0 komentar