सप्रे-दानी स्कूल मैदान के मामले में दायर याचिका हाईकोर्ट से खारिज , August 08, 2020 at 06:18AM

बूढ़ातालाब सौंदर्यीकरण के लिए सप्रे शाला और दानी गर्ल्स स्कूल का खेल मैदान छोटा करने के खिलाफ स्थानीय लोगों की बिलासपुर हाईकोर्ट में लगाई गई याचिका खारिज कर दी गई है। इससे तालाब सौंदर्यीकरण के रास्ते में बड़ी रुकावट दूर हो गई है। महापौर एजाज ढेबर ने इसे शहरवासियों की जीत बताया और कहा कि वे सप्रे शाला मैदान को अंतर्राष्ट्रीय स्तर का मैदान बनाने की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं।

सौंदर्यीकरण के बाद बूढ़ातालाब शहर की सबसे सुंदर जगह होगी। रायपुर स्मार्ट सिटी कंपनी बूढ़ातालाब को विकसित कर रही है। इसके लिए सप्रे शाला और दानी स्कूल मैदान का कुछ हिस्सा लिया जा रहा है। इसका स्थानीय लोगों और जनप्रतिनिधियों ने विरोध शुरू कर दिया था। इसके बावजूद स्मार्ट सिटी ने योजना पर काम नहीं रोका तब लोगों ने बिलासपुर हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी।

15 जुलाई को इस मामले की अंतिम सुनवाई हुई। शुक्रवार 7 अगस्त को कोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया। मेयर एजाज ढेबर ने कहा कि हम सप्रे शाला व दानी स्कूल प्रांगण के डेड एरिया का उपयोग कर अंतरराष्ट्रीय खेल मैदान बनाने जा रहे हैं। इससे राजधानी के खेल से जुड़े हुए लोगों को लाभ मिलेगा। मेयर ने कहा कि यह आम लोगों का विरोध नहीं बल्कि राजनैतिक विरोध था, जिसे सिरे से खारिज कर दिया गया। इस पूरे प्रोजेक्ट में स्मार्ट सिटी 40 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

सुप्रीम कोर्ट जाएंगे: याचिकाकर्ता
इस मामले में याचिकाकर्ता डा. अजीत आनंद डेग्वेकर तथा अन्य लोगों ने कहा कि वे अपना पक्ष रखने में विफल रहे हैं। इसलिए याचिका खारिज हो गई है, लेकिन वे मामले को सुप्रीम कोर्ट ले जाएंगे। याचिका तीन बिंदुओं पर की गई थी। हम सुप्रीम कोर्ट में सभी तथ्यों को दस्तावेजों के साथ फिर से रखेंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Petition filed in Sapre-Dani school ground case dismissed from High Court


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33Fswj4

0 komentar