इंटरनेट धीमा चलने से ऑनलाइन पढ़ाई और काम दोनों प्रभावित, सब परेशान , August 08, 2020 at 06:23AM

लॉकडाउन के बाद से अब तक मोबाइल और लैपटॉप उपयोग करने वालों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है। यह बात इंटरनेट स्पीड के स्लो होने और कॉल कनेक्टिविटी कमजोर होने से सामने आ रही है। बड़ी परेशानी तो यह है कि जिले में 4-जी इंटरनेट स्पीड घटकर 2-जी के समान हो गई है। कॉल कनेक्ट करने के लिए भी कई बार नंबर डायल करना पड़ रहा है, जिससे कोरोना काल में वर्क फ्रॉम होम और वर्चुअल क्लास की सुविधा लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गई है। उपभोक्ताओं का कहना है कि वे रिचार्ज 4-जी का कराते हैं, लेकिन सर्विस 2-जी की मिल रही है।

गौरतलब है कि इन दिनों सबसे अधिक उपभोक्ता जियो कंपनी के सिम का इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटरनेट स्पीड और कनेक्टिविटी कमजोर होने से वर्चुअल क्लास और घर बैठे कार्यालय के कामकाज निपटाने में परेशानी हो रही है। यह बात सर्विस प्रोवाइडर कंपनी भी मानती है कि लॉकडाउन के बाद इंटरनेट पर बढ़े लोड के कारण कई कंपनियों का नेटवर्क स्लो हुआ है। कमजोर नेटवर्क के कारण लोगों को आर्थिक नुकसान के ऑनलाइन कामकाज निपटाने में परेशान होना पड़ रहा है।

मालूम हो कि 22 मार्च से लॉकडाउन के बाद से अनलॉक की स्थिति तक टेलीकॉम कंपनियों से उपभोक्ता न जाने कितनी बार शिकायत कर चुके हैं, लेकिन उनकी इस समस्या का समाधान करने में कंपनी के अधिकारी पहल नहीं कर रहे हैं। यही वजह है कि अब स्थानीय उपभोक्ता टेलीकॉम कंपनियों के खिलाफ उपभोक्ता फोरम में जाने का मन बना चुके हैं। कोरिया जिले में जियो का नेटवर्क ठप होने के साथ अन्य टेलीकॉम कंपनियों का भी बुरा हाल बना हुआ है।

कंपनी के अफसर वर्मा बोले- कुछ जगह नेटवर्क की दिक्कत
जिओ कंपनी के अधिकारी दिलीप वर्मा ने बताया कि कुछ जगह पर नेटवर्क की दिक्कत है। इस पर काम चल रहा है। समस्या का समाधान कब तक होगा इस सवाल पर गोलमोल जवाब देकर मोबाइल डिस्कनेक्ट कर दिया। वहीं जीसीओ वैभव भाटिया से करीब दो घंटे तक संपर्क करने कोशिश की गई। वाट्सएप पर मैसेज भी उनका पक्ष लेने के लिए किया। एक बार वाट्सएप कॉल अटेंड कर कहा- मैं मीटिंग हूं। बाद में कॉल करता हूं।

बीएसएनएल का नेटवर्क हो रहा अप-डाउन, कई लोग हैं परेशान
सरकारी कंपनी बीएसएनएल का नेटवर्क हर एक घंटे में अप-डाउन हो रहा, जिससे मोबाइल उपभोक्ता ना तो फोन पर बात कर पा रहे हैं और न ही इंटरनेट सेवा का आनंद ले पा रहे हैं। जिला मुख्यालय में ही भटठीपारा, सागरपुर, तलवापारा, छिंदडांड में कमजोर नेटवर्क के कारण यहां सैकड़ों लोग परेशान हैं।

गांव की बात नहीं, अब शहर में भी नेटवर्क बंद, क्लासेस बंद
नेटवर्क की समस्या ग्रामीण क्षेत्रों में पहले से ही बनी हुई थी लेकिन अब शहरों में यूजर्स बढ़ने से यहां भी नेटवर्क की दिक्कत से लोग जूझ रहे हैं। चिरमिरी छोटा बाजार, बरतुंगा, मनेंद्रगढ़, बैकुंठपुर, शिवपुर-चरचा समेत सभी शहरी क्षेत्रों में ऑनलाइन और वर्चुअल क्लास का संचालन नहीं हो पा रहा है।

स्कूल से लेकर कॉलेज तक के छात्र नेटवर्क से परेशान
चिरमिरी डीएवी स्कूल के सीजल पंडा, कक्षा 9वीं, 11वीं के सार्थक दुबे, 12वीं के विश्वरीत पंडा समेत बी-टेक के वैष्णव रघुवंशी ने बताया स्कूल नहीं खुलने से अब ऑनलाइन पढ़ाई ही सहारा है, लेकिन नेटवर्क की दिक्कत से पढ़ाई नहीं हो पा रही है। बी-टेक के छात्र रघुवंशी ने कहा किसी भी जानकारी के लिए यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर से संपर्क नहीं हो पा रहा है। यहां कनेक्टिविटी की समस्या है। लॉकडाउन के बाद से अन्य शहरों के हमारे साथी ऑनलाइन पढ़ाई कर आगे निकल गए हैं, लेकिन चिरमिरी के छात्र इसमें पीछ रह जा रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Internet slow down affects both online studies and work, all upset


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3adqNTd

0 komentar