बघेल ने कहा - गांधी की प्रासंगिकता समय से परे, विकास के मॉडल के प्रेरणास्रोत वे ही हैं , August 09, 2020 at 06:04AM

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को वैश्विक परिदृश्य और गांधी की प्रासंगिकता विषय पर आयोजित अन्तर्राष्ट्रीय वेबिनार का शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि गांधी पूरी दुनिया के लिए प्रासंगिक है। उनके जीवन का उद्देश्य संपूर्ण मानवता की भलाई रही है। अगर कोई परम्परा के सद्गुणों को, उसके मूल्यों को और सत्य के आदर्श को लेकर आगे बढ़ता है तो वह कालजयी हो जाता है। इन अर्थों में उनकी प्रासंगिकता भी समय से परे है।
सीएम अपने निवास कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए वेबिनार को संबोधित कर रहे थे। चार दिवसीय इस वेबिनार में विभिन्न देशों के गांधीवादी विचारक हिस्सा ले रहे हैं। सीएम बघेल ने कहा कि उनकी प्रासंगिकता पर चर्चा से ज्यादा जरूरी है उनके बताए रास्ते पर चलने का प्रयास करना। इस मौके पर सीएम ने गांधी के ग्राम स्वराज का उल्लेख करते हुए राज्य सरकार की नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि यह ग्रामीण जनजीवन को सुगम बनाने की योजना है। सरकार ने शोषित, पिछड़े, वंचित और गांव के लोगों को ध्यान में रखकर विकास का ऐसा मॉडल तैयार किया है, जिसके प्रेरणा स्रोत बापू हैं।
सीएम ने गोधन न्याय योजना का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि बापू का मानना था कि गोरक्षा का अर्थ गाय की रक्षा से कहीं अधिक है। राज्य सरकार की बहुउद्देशीय गोधन न्याय योजना बापू को एक पावन श्रद्धांजलि है। इस योजना ने गाय और गोवंश को फिर से ग्रामीण अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण स्थान पर ला दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे विकास का माॅडल वही हो जिसकी कल्पना गांधी ने की थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2XFRDOK

0 komentar