नॉन क्लीनिकल की सीटों में प्रवेश के लिए फिर से मौका , August 09, 2020 at 06:04AM

मेडिकल कॉलेज के नॉन क्लीनिकल विभागों की सीटों में एडमिशन लेने एमबीबीएस छात्र तैयार नहीं है। बार-बार काउंसिलिंग के बाद भी एनाटॉमी, बायो केमेस्ट्री, पीएसएम, पैथोलॉजी व फिजियोलॉजी व अन्य विभागों की 37 सीटें खाली है। एमसीआई की गवर्निंग बॉडी ने इन खाली सीटों को भरने के लिए फिर से मौका दिया है। अब पीजी सीटों में एडमिशन की आखिरी तारीख 31 अगस्त कर दी गई है।
सरकारी मेडिकल कॉलेजों में 19 व निजी कॉलेज में 18 सीटें खाली हैं। जबकि इन सीटों को भरने के लिए ऑनलाइन के बाद दो बार मापअप राउंड किया जा चुका है। नेहरू मेडिकल कॉलेज में जो सीटें खाली हैं, वे ज्यादातर ईडब्ल्यूएस यानी गरीब सवर्णों के लिए आरक्षित सीटें हैं। इन सीटों को दूसरी केटेगरी में कन्वर्ट भी नहीं किया जा सकता। इस कारण इन सीटों को भरने में परेशानी हो रही है। पं. जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर में केवल 4 सीटें खाली हैं। इनमें पीएसएम की 2 व में व बायो केमेस्ट्री की एक-एक सीट खाली है। सिम्स में विभागों व बायो केेमेस्ट्री की 3-3, माइक्रो बायोलॉजी की 2 व फार्माकोलॉजी की एक समेत 9 सीटें खाली हैं। जगदलपुर में फोरेंसिक मेडिसिन की एक, रायगढ़ में फिजियोलॉजी की 3 व पीएसएम की 2 सीटें नहीं भर पाई हैं। निजी मेडिकल कॉलेज भिलाई की 26 में केवल 8 सीटों का अलाटमेंट किया गया है। बढ़ी हुई तारीख में जो छात्र सीटें पसंद नहीं कर सके हैं, वे एडमिशन ले सकते हैं। दो साल से गरीब सवर्णों के लिए पीजी में एडमिशन के लिए 10 फीसदी का आरक्षण है। पिछले दो साल से ईडब्ल्यूएस की सीटों पर एडमिशन हो रहा है।

कहां कितनी सीटें खाली

  • नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर- 04
  • सिम्स बिलासपुर-09
  • रायगढ़- 05
  • जगदलपुर- 01
  • निजी कॉलेज भिलाई- 18

तीन महीने का अतिरिक्त समय फिर भी सीटें खाली
कोरोना के कारण पीजी सीटों में एडमिशन का पूरा शेड्यूल गड़बड़ा गया है। पहले इन सीटों पर एडमिशन के लिए 31 मई आखिरी तारीख होती थी। इसे बढ़ाकर 30 जून, फिर 31 जुलाई, अब 31 अगस्त किया गया है। इसके बावजूद सीटें भर नहीं पा रही हैं। देरी से एडमिशन के कारण कोर्स की पढ़ाई भी प्रभावित होगा। लॉकडाउन में छूट मिलने के बाद अब पीजी की सीटों का आवंटन कराने वाले छात्रों ने एडमिशन लिया है। पहले चरण की काउंसिलिंग में केवल सीटों का आवंटन कराया गया था। एडमिशन ऑनलाइन हुआ था, जिससे छात्र कॉलेज पहुंच नहीं सके थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Chance again for admission in non-clinical seats


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2XK9OCS

0 komentar