पत्नी मार्निंग वॉक पर गई, इधर पति ने बेटे को फांसी पर लटकाया फिर खुद फंदे पर झूल गया , August 17, 2020 at 05:50AM

महिला मार्निंग वॉक पर निकली तो पति ने पहले अपने पांच साल के मासूम को फांसी के फंदे पर लटकाया फिर खुद खुदकुशी कर ली। घटना सकरी थाना क्षेत्र की है। उसलापुर साईं नगर निवासी पंकज गढ़ेवाल पिता सुखदेव 33 वर्ष अपने बड़े भाई वेद गढ़ेवाल के साथ परिवार सहित एक ही मकान में रहते थे। पंकज का बेटा आदर्श 5 वर्ष और पत्नी तपस्या साथ रहते थे। पंकज बिजली विभाग में ठेकेदारी करता था। 14 अगस्त की रात पंकज खाना खाकर सो गया।

15 अगस्त की सुबह 5.45 बजे पंकज की पत्नी तपस्या अपनी जेठानी के साथ मॉर्निंग वॉक पर निकल गई। पंकज और आदर्श घर पर थे। इस बीच पंकज ने नायलोन की रस्सी से पहले आदर्श को फांसी पर लटकाया फिर खुद फंदा बनाकर झूल गया। सुबह 6.30 बजे तपस्या घर लौटी। बेडरूम का दरवाजा खोलकर भीतर घुसी तो पंखे पर पंकज व आदर्श लटकते मिले। तपस्या ने शोर मचाकर अपनी जेठानी को बुलाया। दोनों ने फंदा काटा और उन्हें निजी अस्पताल लेकर गए। डॉक्टरों ने सिम्स रेफर कर दिया। दोनों उन्हें सिम्स लेकर पहुंचे। डॉक्टरों ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। अस्पताल से सूचना मिलने पर सकरी पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम कराया।
बड़ा भाई कर रहा था आर्थिक मदद

सकरी पुलिस के अनुसार प्रारंभिक जांच में यह बात सामने आई है कि मार्च में कोरोना व लॉकडाउन के कारण काम बंद हो गया। बड़ा भाई वेद गढ़ेवाल आर्थिक मदद कर रहा था। आर्थिक समस्या के कारण पंकज का अपनी पत्नी तपस्या के बीच विवाद हो रहा था।

पत्नी कर रही थी खुदकुशी, पति ने बचाया था: तपस्या के साथ पंकज का आए दिन विवाद हो रहा था। इसी दौरान तपस्या अपने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी करने जा रही थी। उसी समय पंकज की उसपर नजर पड़ गई और उसने फंदा काटकर उसे बचा लिया था। उसने समझाइश दी थी।

हमेशा कहता था दोनों साथ मरेंगे : तपस्या के अनुसार पंकज अपने बेटे आदर्श से बहुत प्यार करता था। सामान्य बातचीत के दौरान कभी भी मरने से पहले अपने बेटे को साथ लेकर जाने की बात कहता था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3g2iNpv

0 komentar