लॉकडाउन के बाद निर्माण सामग्री की बढ़ी कीमत , August 17, 2020 at 05:55AM

कोरोना की वजह से मकान निर्माण की लागत प्रति हजार स्क्वायर फीट 2 लाख तक बढ़ गई है। सीमेंट की रेट ही नहीं बिजली वायरिंग की सामान कीमत में भी वृद्धि हुई है। इसके असर से लागत बढ़ी है। वहीं मकान निर्माण से जुड़े लोगों का कहना है कि 50 फीसदी तक मकान इस सीजन में कम बने हैं। यानी फरवरी से लेकर मई तक सीजन रहता है लेकिन इस बार कोरोना के कारण पीक सीजन में मकान निर्माण में बड़ी रुकावट आई। एक लाॅकडाउन की वजह से बहुत कम मकान निर्माण हो सके।

गौरतलब है कि मार्च के अंतिम सप्ताह में शुरू हुआ लॉकडाउन लगातार 30 जून तक चलता रहा। इसके बाद जुलाई में लॉकडाउन हटा। इसकी वजह से मकान निर्माण कम संख्या में हुए। वही मटेरियल की दुकानें बंद रहीं वहीं श्रमिक भी अपने घरों में रहे। इस कारण मकान निर्माण नहीं हुआ। इस बीच में एक सबसे बड़ी बात यह हुई कि मकान निर्माण सामग्रियों की कीमत वृद्धि भी हो गई। यानी अब मकान बनाने वालों को बढ़ी हुई कीमत का भी सामना करना पड़ रहा है।

यानी मार्च में एक ट्रैक्टर रेत 1000 से 1200 में मिल जा रहा था वही उसकी लागत 1800 से लेकर एरिया के हिसाब से 2000 रुपए तक वसूल किया जा रहा है। वहीं 3800 रुपए ट्रैक्टर की गिट्टी 4000 में तो 3800 रुपए क्विंटल की छड़ 4400 रुपए में मिल रही है। मकान निर्माण करने वालों को जहां रेत की बढ़ी हुई कीमत ने परेशान कर रखा है वहीं छड़ यानी सरिया और सीमेंट भी बढ़ी हुई कीमत पर खरीदना पड़ रहा है।

कोरोना के असर से कैसे बढ़े दाम

सामग्री मार्च अगस्त कीमत (रु. में)
एश ब्रिक्स- 4800 5600 (प्रति हजार)
सरिया - 3800 4400 (प्रति क्विंटल)
रेत- 1200 1800 (प्रति ट्रैक्टर )
सीमेंट - 250 275 (प्रति बोरी)
गिट्टी - 3800 4000 (प्रति ट्रैक्टर)
बिजली वायरिंग में 12 फीसदी वृद्धि
टाइल्स/सेनेटरी 5 से 8 फीसदी वृद्धि

विशेषज्ञ कह रहे दिसम्बर तक सामान्य हो सकती हैं कीमतें : मकान निर्माण के जानकार इरशाद के मुताबिक प्रति एक हजार स्क्वेयर फीट मकान बनाने में 10 लाख रुपए लागत आती है। लेकिन मटेरियल की कीमत बढ़ने से लागत 2 लाख तक बढ़ गई है। विशेषज्ञ अनिरुद्ध पाठक कहते हैं कि दिसंबर तक रेट सामान्य होने की उम्मीद है। ऐसा न हुआ तो लोगों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Construction material price increased after lockdown


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3awLYQm

0 komentar