ऑनलाइन ठगी के लिए सार्वजनिक स्थानों में डिवाइस चार्ज करने वालों को निशाना बना रहे साइबर क्रिमिलन, स्टेशन, माॅल, एयरपोर्ट पर मोबाइल चार्जिंग के दौरान डाटा चोरी का खतरा , August 19, 2020 at 05:22AM

एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, मॉल जैसे सार्वजनिक स्थानों में पर मोबाइल-लैपटॉप चार्ज करने वालों का डाटा मिनटों में चोरी हो सकता है। साइबर क्रिमिनल ऑनलाइन ठगी के लिए सार्वजनिक स्थानों में चार्ज करने वालों को निशाना बना रहे हैं। उनके लिए चार्जिंग पोर्ट या सॉकेट से मोबाइल, टैब, लैपटॉप की गोपनीय जानकारी और बैंकिंग डाटा चोरी करना आसान है। इस तरीके को जूस जैकिंग कहते है।
मोबाइल और लैपटॉप का डेटा और गोपनीय जानकारी चोरी करने के बाद सेंध मारी करने से लेकर ठग ब्लैकमेलिंग तक कर रहे हैं। देश में इस तरह की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। रायपुर पुलिस ने शहरवासियों के लिए अलर्ट जारी कर दिया है। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वे सार्वजनिक स्थानों पर मोबाइल और लैपटॉप चार्ज करने से परहेज करें। प्रभारी एएसपी क्राइम अभिषेक महेश्वरी का कहना है ऑनलाइन ठगी करने वाले शातिर बदमाश लोगों अपने जाल में फंसाने लगातार तरीका बदल रहे हैं। पहले वे लोगों को फोन कर जानकारी मांगते थे। अब साइबर हमला कर रहे हैं। जूस जैकिंग भी ठगी का एक ऐसा ही तरीका है। इसमें साइबर क्रिमिनल सार्वजनिक स्थानों में लगे यूएसबी चार्जिंग पोर्ट या सॉकेट के माध्यम से मोबाइल और लैपटॉप में मैलवेयर डाल देते हैं। इसकी मदद से वे बमुश्किल 1 मिनट में डेटा को चोरी कर लेते हैं। हालांकि छत्तीसगढ़ में ऐसी घटना नहीं हुई है, लेकिन अभी से लोगों को अलर्ट कर दिया गया है।

नॉलेज : क्या है जूस जैकिंग
मॉल से लेकर एयरपोर्ट समेत अन्य सार्वजनिक स्थानों पर अब बिजली बचत के लिए यूएसबी चार्जिंग सॉकेट लगाया जा रहा है। साइबर क्रिमिनल इसी चार्जिंग प्वाइंट और सॉकेट को हथियार बना रहे हैं। वे यूएसबी केबल में इलेक्ट्रानिक डिवाइस या चिप लगाते हैं। इस डिवाइस या चिप में रिकार्डर रहता है, जो पूरी जानकारी कापी कर लेता है। कई बार चिप के माध्यम से मोबाइल या लैपटॉप को हैक कर पूरी जानकारी चुरा लेते हैं। सार्वजनिक स्थान पर इन चार्जिंग प्वाइंट और साॅकेट की निगरानी का कोई सिस्टम नहीं इसलिए ठग आसानी से उसमें छेड़खानी कर लेते हैं।

ऐसे बचे जूस जैकिंग से
1. सार्वजनिक स्थानों में चार्जिंग से लोगों को बचना चाहिए।
2. हमेशा एसी चार्जिंग एडॉप्टर या सॉकेट में ही चार्ज करें।
3. यूएसबी सॉकेट में मोबाइल या अन्य डिवाइस चार्ज न करें।
4. सफर के दौरान पावर बैंक जैसे चार्जिंग डिवाइस लेकर चलें।
5. लैपटॉप, कंप्यूटर में भी केबल से चार्जिंग करने से बचे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Cybercrime, targeting of those charging devices in public places for online fraud, threat of data theft during mobile charging at station, mall, airport


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3aJBSvG

0 komentar