पहले मौखिक थी एंटीजन किट से जांच रिपोर्ट, अब मिलेगी लिखित , August 21, 2020 at 05:38AM

संदीप राजवाड़े/ पीलूराम साहू | अब एंटीजन किट से कोरोना जांच के बाद आधे घंटे में लिखित रिपोर्ट मिलेगी। इसमें व्यक्ति की पूरी डिटेल के साथ जांच का तरीका और रिपोर्ट पॉजिटिव या निगेटिव दिया होगा। पहले जांच के बाद मौखिक रूप से लोगों को बताया जाता था। लोगों को इस रिपोर्ट पर भरोसा नहीं होता था। ऐसे में लोग जांच कराने से भी कतरा रहे थे। लोगों में ऐसी चर्चा भी होने लगी थी कि किसी को कुछ भी नहीं हुआ फिर भी कोरोना पॉजिटिव बता रहे हैं। लिखित रिपोर्ट मिलने से लोगों को जांच रिपोर्ट पर भरोसा भी होगा। ऐसे में जांचों की संख्या भी बढ़ेगी। एंटीजन के साथ ही ट्रू नॉट जांच होने पर संबंधित व्यक्ति को रिपोर्ट कार्ड मिलेगा।
सीएमएचओ डॉ. मीरा बघेल ने बताया कि आज या कल से अब आरटीपीसीआर व ट्रू नॉट टेस्ट के साथ एंटीजन टेस्ट कराने वाले सभी लोगों को उनका रिपोर्ट कार्ड दिया जाएगा। सबसे ज्यादा टेस्ट एंटीजन के ही हो रहे हैं, इसकी जांच आधे घंटे में हो जाती है, मौके पर ही टेस्ट सैंपल जांच के बाद उन्हें निगेटिव व पॉजीटिव आने का लिखित दस्तावेज दे दिया जाएगा। इसके अलावा अब उस रिपोर्ट कार्ड में जांच कराने वाले का नाम, मोबाइल नंबर, एक अन्य संपर्क नंबर, उसका व्यवसाय, आरोग्य सेतु एप डाउनलोड है कि नहीं इसकी जानकारी, कौन से लक्षण हैं, पहले किसी तरह की बीमारी, कौन से मैथड से जांच हुई है के साथ निगेटिव व पॉजीटिव है, इसकी पूरी जानकारी दी जाएगी। अगर दोबारा टेस्ट करने की जरूरत है तो उसके बारे में निर्देश लिखा रहेगा।

रिपोर्ट मिलने से बढ़ेगी जांच, राहत भी
डॉ. मीरा ने बताया कि अब संदिग्ध लक्षण, प्राइमरी कांटेक्ट वालों के साथ जो लोग अपने ही जागरुकता दिखाते हुए सैंपल टेस्ट कराने आते हैं, उन्हें राहत मिलेगी। जो लोग दूसरे राज्य से आए हैं व बाहर से आकर उन्हें अपने संस्थान में नौकरी ज्वॉइन करनी है, ऐसे लोगों को अब टेस्ट में निगेटिव आने के बाद दस्तावेज लेकर उसे दिखा सकते हैं। अब तक मौखिक रिपोर्ट बताने से लोगों में असमंजस रहता था, इसके अलावा उनके पास लिखित में कुछ न होने पर कई जगह परेशानी होती है।

अब जिले में रोज 1800 टेस्ट का टारगेट
राजधानी समेत जिले में अब नए सिरे से रोजाना 1800 सैंपल टेस्ट करने का टारगेट तय किया गया है। अभी जिले में रोजाना 1000 के आसपास सैंपल लिए जा रहे हैं। हेल्थ अफसरों से मिली जानकारी के अनुसार सबसे ज्यादा टेस्ट एंटीजन से ही हो रहे हैं, अब रायपुर जिले में रोज एंटीजन के 700 सैंपल टेस्ट करने हैं, इसके साथ ट्रू नॉट के 600 और आरटीपीसीआर के 500 सैंपल लेने हैं। इन दोनों की रिपोर्ट राजधानी में सैंपल देने के दूसरे दिन ही 48 घंटे में मिल पाती है। राजधानी में एम्स, मेडिकल कॉलेज, टीबी अस्पताल कालीबाड़ी, खोखो पारा शासकीय अस्पताल, बिरगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, चंगोराभाठा, लाभांडी, शंकर नगर, भनपुरी व हीरापुर में निशुल्क सैंपल टेस्ट सेंटर बनाए गए हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31dqXah

0 komentar