कोरोना संक्रमित महिला का शव लेने से परिवार के लोगों ने किया इंकार, जिला प्रशासन ने किया अंतिम संस्कार , September 01, 2020 at 06:40AM

जांजगीर में सोमवार को कोरोना संक्रमित महिला की मौत हो गई। मौत के बाद महिला को अपनों का साथ नसीब नहीं हो सका। संक्रमण फैलने के खतरे को देख परिवार के लोगों ने महिला का शव लेने से इंकार कर दिया। बलौदा के तहसीलदार अतुल वैष्णव ने बताया कि इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों की टीम ने आगे की रस्में पूरी कीं। बलौदा के वार्ड नंबर 11 की रहने वाली महिला को पहले से बीपी व शुगर की बीमारी थी। उसका इलाज शहर के प्राइवेट डॉक्टर कर रहे थे। जांच में कोविड पॉजिटिव पाए जाने के बाद महिला को रविवार को कोरोना सेंटर भेजा गया था।


गांव से दूर ले जाकर दफनाया
महिला की जांच करने वाले डॉ. आलोक मंगलम ने बताया कि महिला का पल्स रेट लगातार डाउन हो रहा था। सांस लेने में समस्या आने पर ऑक्सीजन भी दी गई। महिला की स्थिति खराब होने पर उन्हें सीधा विशेष निगरनी में रखा गया था। कोरोना से जिले में अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें दस मौतें जिले के बाहर रायगढ, मेकाहारा, एम्स रायपुर, सिम्स बिलासपुर सहित अन्य जिलों के अस्पतालों में हुई। इस जिले में ही इलाज के दौरान मौत का यह पहला मामला है। कुछ दिन पहले एक अधेड़ ने दिव्यांग केयर सेंटर में फांसी लगाकर जान दी थी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर जांजगीर की है। अधिकारियों ने महिला के गांव से कुछ दूरी पर ले जाकर कोविड प्रोटोकॉल के तहत उसका अंतिम संस्कार किया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2QEKVVh

0 komentar