मेडिकल में एडमिशन के लिए 12500 से ज्यादा स्टूडेंट्स देंगे नीट, शहर में 33 केंद्र बनाए गए , September 11, 2020 at 06:31AM

राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) की ओर से 13 सितंबर को राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-2020) का आयोजन किया जाएगा। कोरोना महामारी के दौरान सुरक्षा एहतियात बरतने के उद्देश्य से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने विस्तृत एसओपी (SOP) जारी किया है।
यह प्रवेश परीक्षा ऑफलाइन होगी। इस परीक्षा के लिए रायपुर में 33 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। इनमें लगभग 12500 स्टूडेंट्स पेपर देंगे। नीट के माध्यम से ही देश के प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों में एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में प्रवेश दिया जाता है। पेपर दोपहर 2 बजे से शुरू होकर शाम 5 बजे तक होगा। परीक्षा केन्द्रों में आइसोलेशन वार्ड के साथ ही कोरोना गाइडलाइन से बचने के सभी जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए गए है। सेंटर में फेस कवर्स, मास्क, हैंड सैनिटाइजर्स, थर्मल गन्स, सोडियम हाइपोक्लोराइट, साबुन/हैंडवॉश, डिस्पोजेबल पेपर टॉवल्स, पल्स ऑक्सीमीटर, ढके हुए डस्टबिन्स रखना जरूरी है।
स्टूडेंट्स को पूरे समय तक मास्क लगाकर रखना होगा। स्टूडेंट्स को आपस में किसी भी तरह की स्टेशनरी या वॉटर बॉटल शेयर न करने के निर्देश दिए गए हैं। पेन-पेपर बेस्ड टेस्ट में इनविजिलेटर को क्वेश्चन पेपर, आंसरशीट बांटते समय हाथों को अच्छी तरह सैनिटाइज करना होगा। स्टूडेंट्स भी ये चीजें लेने और उन्हें वापस देने से पहले अपने हाथ सैनिटाइज करेंगे। पेपर्स जमा होने के 72 घंटे बाद ही आंसर-शीट्स के बंडल खोले जाएंगे।

स्टूडेंट्स इन बातों का रखें ख्याल

  • परीक्षार्थी को कलाई घड़ी, पर्स, हैंडबैग, बेल्ट, टोपी, गहने जैसी वस्तुएं पहने होने पर प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
  • परीक्षा केंद्र के अंदर एडमिट कार्ड और आईडी प्रमाण के अलावा किसी भी प्रकार का प्रिंट, कागज अथवा स्टेशनरी आइटम ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
  • परीक्षा केंद्र के अंदर ज्यॉमेट्री, पेंसिल बॉक्स, कैलकुलेटर, पेन, स्केल, राइटिंग पैड, पेन ड्राइव, इरेज़र जैसी वस्तुएं भी प्रतिबंधित रहेंगी।
  • संचार उपकरणों जैसे मोबाइल फोन, ब्लूटूथ, इयरफ़ोन, पेजर, स्वास्थ्य बैंड आदि को ले जाना सख्त रूप में वर्जित है।
  • माइक्रोचिप, ब्लूटूथ, कैमरा जैसी कोई अन्य वस्तु, जिसका उपयोग अनुचित साधनों के लिए किया जा सकता है, परीक्षा हॉल में वर्जित है।
  • स्टूडेंट्स को सेंटर में पीने के लिए पानी नहीं दिया जाएगा, वे पारदर्शी बॉटल में पानी ला सकते हैं।
  • 50 एमएल की हैंड सैनेटाइजर बॉटल रखें।
  • स्टूडेंट्स को सुबह 11.30 से 1.30 तक एग्जाम सेंटर में मिलेगी एंट्री

जेईई: संक्रमण के कारण परीक्षा न दे पाने वाले स्टूडेंट्स को दोबारा मौका मिलेगा
एक से 6 सितंबर के बीच आयोजित जेईई मेन में संक्रमण के चलते जो स्टूडेंट परीक्षा में शामिल नहीं हो पाए हैं,उन्हें एक और मौका मिलेगा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) सितंबर में ही ऐसे कैंडिडेट्स की परीक्षा करवाएगी। तिथि की घोषणा 15 दिन के अंदर कर दी जाएगी। कैंडिडेट्स को पुराने आवेदन पत्र में सुधार का मौका भी मिलेगा। इसी आवेदन पत्र में उन्हें कोविड-19 संक्रमण का सर्टिफिकेट भी अपलोड करना होगा। यह सर्टिफिकेट सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त किसी भी लैब या अस्पताल से जारी होना चाहिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3k7uEFe

0 komentar