घायलों को तत्काल मदद और हाइवे पर ट्रैफिक सुधारने 15 पेट्रोलिंग वैन तैनात, अत्याधुनिक एवं तकनीकी संसाधनों से हैं लैस , September 15, 2020 at 06:23AM

सड़क दुर्घटनाओं में लोगों की मदद के लिए प्रदेश के 375 किमी के दायरे में 15 आधुनिक पेट्रोलिंग वैन तैनात किए गए हैं। सीएम भूपेश बघेल ने इन वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। ये वाहन दस जिलों बलौदाबाजार, धमतरी, बालोद, बेमेतरा, कोरिया, जशपुर, सूरजपुर, बलरामपुर, कांकेर और कोंडागांव पुलिस को दिए गए हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन दुर्घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए प्रतिबद्ध है। दुर्घटनाजन्य स्थलों की पहचान कर हाईवे पेट्रोलिंग वाहनों के माध्यम से घायलों को शीघ्र ही मदद मिल पाएगी। इस अवसर पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, डीजीपी डीएम अवस्थी, डीजी जेल संजय पिल्ले, विशेष डीजी आरके विज और अशोक जुनेजा सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

24 घंटे तीन पालियों में वैन के साथ मुस्तैद रहेगी टीम
दस जिलों के राजमार्गों पर ब्लैक स्पॉट के आधार पर 15 सड़कें चिन्हित की गई हैं, जिनकी लंबाई करीब 25 किलोमीटर है। इस मार्ग पर 24 घंटे तीन पालियों में एएसआई, हेड कॉन्सटेबल, कॉन्सटेबल और ड्राइवर उपलब्ध रहेंगे। हाईवे पेट्रोलिंग टीम सड़क दुर्घटना होने पर तत्काल घटना स्थल पर पहुंचेगी और दुर्घटना पीड़ित को 108 वाहन या हाईवे पेट्रोलिंग वाहन से तत्काल नजदीकी शासकीय अस्पताल हेतु रवाना करेगी। इसके साथ ही दुर्घटना पीड़ित व्यक्तियों के परिजनों को तुरंत सूचना दी जाएगी। टीम द्वारा हाईवे के किनारे खड़े खराब, दुर्घटनाग्रस्त, अवैध पार्किंग के वाहनों को हटवाया जाएगा। हाईवे पेट्रोलिंग के संचालन एवं नियंत्रण पर संबंधित पुलिस अधीक्षक का पूर्ण दायित्व होगा।

इस संसाधनों से लैस हैं पेट्रोलिंग वाहनें
हाइवे पेट्रोलिंग वाहन सभी अत्याधुनिक एवं तकनीकी संसाधनों से लैस हैं। इनमें जीपीएस सिस्टम, ब्रीथ एनालाईजर(एल्कोमीटर), स्मार्ट फोन, रिफ्लेक्टर जैकेट, रेनकोट, एलईडी बेटन, एलईडी लाईट, पीए सिस्टम एवं सायरन, वायरलेस सेट, डिजिटल कैमरा, फर्स्ट एड बॉक्स, अग्नि शमन यंत्र, सर्च लाईट, टूल किट (टोइंग हेतु), स्ट्रैचर की सुविधा उपलब्ध है।

अभी 322 किमी की हो रही पेट्रोलिंग
अभी वाघनदी बॉर्डर से ओडिशा बॉर्डर तक 322 किमी तक 15 हाईवे पेट्रोलिंग गाड़ियां चल रही हैं। इससे सड़क दुर्घटनाओं और घायलों को समय पर उपचार मिलने में अत्यधिक सहायता मिली है। हाईवे पेट्रोलिंग गाड़ियों की त्वरित प्रतिक्रिया की वजह से विगत वर्ष की तुलना में पिछले 8 माह में सड़क दुर्घटनाओं में 24 प्रतिशत और सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु में 20 प्रतिशत की कमी आई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Immediate help to the injured and improve traffic on the highway. 15 patrolling vans deployed, equipped with state-of-the-art and technical resources


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/35AGXpq

0 komentar