राजधानी से चलीं तीन ट्रेनें, हर बोगी में सिर्फ 3-4 यात्री , September 06, 2020 at 06:38AM

रेलवे ने राज्य शासन की अनुमति के बाद राजधानी से दो पैसेंजर और एक एक्सप्रेस शनिवार से शुरू कर दी, लेकिन कोरोना का डर ऐसा हावी है कि तीनों ट्रेनों को यात्री ही नहीं मिले। तीनों ही ट्रेनों की हर बोगी में तीन-चार यात्री ही नजर आए। रेलवे से जो आंकड़े जारी किए गए हैं. उनके मुताबिक शनिवार की रात 9:30 बजे दुर्ग से रायपुर होते हुए अंबिकापुर जाने वाली एक्सप्रेस में 126 यात्री सवार हुए। रायपुर से कोरबा के बीच चलने वाली हसदेव एक्सप्रेस शनिवार शाम 6 बजे छूटी, जिसमें 246 यात्री ही थे, जबकि इस ट्रेन में हजार से ज्यादा बर्थ हैं। यही नहीं, सुबह 9:30 बजे रायपुर-दल्लीराजहरा पैसेंजर में मात्र 16 यात्री ही रायपुर से रवाना हुए, जबकि इस ट्रेन में भी 1300 सीटें हैं। रेलवे ने जिन 3 ट्रेनों को शुरू किया है, वह राज्य की सीमा के भीतर ही चलती हैं यानी पूरी तरह लोकल हैं। माना जा रहा है कि कोरोना की दहशत के कारण लोग ट्रेनों में सफर करना नहीं चाहते, लेकिन रेलवे अफसरों ने दावा किया कि अभी लोगों को ट्रेनें शुरू होने की जानकारी नहीं है। लोगों को पता चलने लगेगा तो यात्री बढ़ सकते हैं। जैसे, दुर्ग-अंबिकापुर एक्सप्रेस में शनिवार शाम 7 बजे की स्थिति यह थी कि स्लीपर कोच में अगले 5 दिनों तक औसतन 180 और थर्ड एसी में औसतन 40 बर्थ खाली थीं, बाकी भर चुकी हैं।
ट्रेनें इस माह के अंत तक
इंट्रास्टेट शुरू की गई तीनों ही ट्रेनें इसी महीने के अंत तक चलेंगी। रेलवे प्रशासन ने तीन जोड़ी ट्रेनों के लिए अलग-अलग टाइम टेबल निर्धारित किया है। यह ट्रेनें स्पेशल के तौर पर चलाई जा रही हैं। हालांकि रेलवे अफसरों की मानें तो यात्रियों की संख्या और कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखकर इन्हें बढ़ा सकते हैं। दुर्ग-अंबिकापुर एक्सप्रेस 29 सितंबर और अंबिकापुर-दुर्ग 30 सितंबर तक चलनी हैं। इसी तरह, रायपुर-कोरबा एक्सप्रेस 29 सितंबर तक प्रत्येक बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, एवं शनिवार को चलेगी। रायपुर-दल्लीराजहरा-केवटी डेमू ट्रेन भी 29 सितंबर तक चलाई जाएगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
रायपुर स्टेशन से रवाना हुई रायपुर-कोरबा हसदेव एक्सप्रेस ट्रेन।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3i4Cv5Q

0 komentar