पीडब्ल्यूडी में 6 करोड़ के टेंडर मामले में ईई का खुलासा, बोले- कहते हैं टेंडर सेट कर हमारे आदमी को दें, ठेकेदार तो हमें एक प्रतिशत ही देते हैं कमीशन , September 24, 2020 at 06:25AM

लोक निर्माण विभाग में करोड़ों का टेंडर जारी किया जा रहा है, लेकिन अफसरों पर पहले की तरह ही नेताओं का दबाव इतना है कि वे नियमों के तहत काम नहीं कर पा रहे हैं। इसका खुलासा बलरामपुर जिले के कार्यपालन अभियंता से रिकॉर्डेड बातचीत में हुआ। उन्होंने कहा है कि राजनीतिक दबाव में वे परेशान हैं, कहा जाता है कि काम (टेंडर) सेट कर हमारे आदमी को दिया जाए और ज्यादा बोलने पर दुश्मनी हो जाती है। 2 लाइन का आवेदन बनाकर मंत्रियों और सचिव के पास खड़े हो जाते हैं, कमीशन तो अलग ही। उन्होंने खुलासा किया कि ठेकेदार उन्हें आधा-एक प्रतिशत ही कमीशन देते हैं।
बलरामपुर जिले के लोक निर्माण विभाग में कुछ दिन पहले मुख्यमंत्री सुगम सड़क योजना के तहत करोड़ों का टेंडर जारी किया गया। इस योजना के तहत बलरामपुर जिले में प्रतापपुर, सामरी और रामानुजगंज विधानसभा के लिए 6 करोड़ का काम होना है। इस तरह राज्य के सभी विधानसभा क्षेत्र में इस योजना के तहत 2-2 करोड़ के काम होने हैं। इस योजना के तहत टेंडर जारी होने के बाद बलरामपुर में टेंडर फाॅर्म जमा होने के अंतिम दिन पीडब्ल्यूडी ऑफिस से फाॅर्म लेने वाले अफसर और कर्मचारी गायब हो गए थे। इसके बाद अंतिम में उन्हें कह दिया गया कि टेंडर निरस्त हो गया है। इसके बाद टेंडर मैनेज होने के भी आरोप लगने लगे। इस बीच दैनिक भास्कर ने कार्यपालन अभियंता एन एक्का से बात की तो उन्होंने कहा कि टेंडर निरस्त हो गया है और लिखित में है, लेकिन कुछ ही पल में बोले- नहीं है। उन्होंने कहा कि इस योजना में पहले कहा गया कि टेंडर के बाद 2 दिन तक उसे खोलना नहीं है, फिर कहा कि वर्क आर्डर जारी नहीं करना है।

कमीशन है वो तो अलग, परेशान हैं
ईई ने कहा छत्तीसगढ़ छोटा राज्य है, हर छोटी बात सीएम व मंत्री तक पहुंच जाती है। कहते हैं हमारे आदमी को सेट कर काम दो, हम भी परेशान हैं। कमीशन चाहिए वो तो अलग। गाइड लाइन भी तो है।

ठेकेदारों ने ऑफिस में जड़ा था ताला, पुलिस से शिकायत
ठेकेदारों ने कलेक्टर, पीडब्ल्यूडी विभाग के उच्चधिकारी, लोक निर्माण विभाग मंत्री व रामानुजगंज थाना को ज्ञापन सौंपकर नारेबाजी की। साथ ही कार्यालय में ताला जड़कर सांकेतिक प्रदर्शन किया था। ठेकेदारों ने कहा कि कार्यपालन अभियंता ने सभी कार्यों का किसी से मोटी रकम में सौदा कर लिया है और ठेकेदारों को इस निविदा में भाग लेने नहीं दिया है।

ठेकेदार संघ भी उतरा मैदान में, शिकायतों का दौर शुरू
ठेकेदार संघ ने कलेक्टर और एसपी को ज्ञापन सौंपकर कहा है कि लोक निर्माण विभाग रामानुजगंज ने कई निर्माण कार्यों के लिए निविदा आमंत्रित की थी। आवेदन का अंतिम समय 16 सितंबर था, लेकिन ठेकेदार 16 सितंबर को दोपहर 11 बजे से कार्यालय में गए तो कार्यालय में आवेदन-पत्र लेने कोई नहीं था। इसकी शिकायत कलेक्टर और पीडब्ल्यूडी के अफसरों से की।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3mM9XRh

0 komentar