छत्तीसगढ़ से 60 लाख टन चावल खरीदेगी केंद्र सरकार, दूसरा बड़ा सप्लायर होगा राज्य , September 16, 2020 at 05:44AM

केंद्रीय पुल में चावल खरीदी को लेकर केंद्र और राज्य के बीच सालों से चला आ रहा विवाद इस बार देखने को नहीं मिलेगा। क्योंकि छत्तीसगढ़, केंद्रीय पूल में चावल का दूसरा बड़ा आपूर्तिकर्ता होने जा रहा है। केंद्र ने आगामी खरीफ सीजन के लिए 495.37 लाख टन चावल खरीदी का लक्ष्य रखा है, जिसमें छत्तीसगढ़ की हिस्सेदारी 60 लाख टन की होगी। केंद्र सरकार का खरीदी लक्ष्य पिछले साल से 19.07 प्रतिशत अधिक है। खरीफ विपणन सीजन 2019-20 में धान की वास्तविक खरीद (चावल के संदर्भ में) 420.22 लाख टन थी, जो एक रिकॉर्ड खरीद थी। खरीफ विपणन सीजन 2020-21 के दौरान तमिलनाडु और महाराष्ट्र के लिए खरीद अनुमान 100 प्रतिशत से अधिक हो गया है और मध्यप्रदेश, तेलंगाना, बिहार और झारखंड में खरीफ विपणन सीजन 2019-20 की तुलना में 50% अधिक है। केंद्रीय खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने हाल में राज्यों के खाद्य सचिवों से आगामी खरीद व्यवस्था पर चर्चा कर चुके हैं, उसी दौरान पांडे ने राज्यवार खरीदी लक्ष्य के भी संकेत दिए थे। इसके मुताबिक केंद्र ने पंजाब से 113 लाख टन, छत्तीसगढ़ से 60 लाख टन और तेलंगाना से 50 लाख टन चावल खरीदने का लक्ष्य रखा।इसके अलावा हरियाणा से 44 लाख टन, आंध्र प्रदेश से 40 लाख टन, उत्तर प्रदेश से 37 लाख टन और ओडिशा से 37 लाख टन चावल खरीदने का लक्ष्य रखा।


राज्य को बड़ी राहत भी
केंद्र द्वारा इतनी बड़ी खरीदी छत्तीसगढ़ सरकार के लिए राहत लाएगी। राज्य सरकार राजकोषीय तनाव का सामना कर रही है, क्योंकि वह किसानों को बोनस के साथ 2500 रुपए प्रति क्विंटल का भुगतान कर रही है। इधर, छत्तीसगढ़ ने इस सीजन में 95 लाख टन से अधिक धान की खरीद का लक्ष्य तय किया है। इसके लिए किसानों का पंजीयन शुरु हो चुका है, जिनसे एक दिसबंर से खरीदी की जाएगी। इस साल भी इसी काीमत पर खरीदने की घोषणा की जा चुकी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2ZE8vXm

0 komentar