अब दो महिलाओं के खाते से निकाल लिए 6.29 लाख रुपए; एकाउंट डिटेल एक्सिस करने और पेंशन खाते के नाम पर ठगे , September 04, 2020 at 05:47PM

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में फिर ऑनलाइन ठगी हो गई। इस बार शातिर बदमाशों ने दो महिलाओं को शिकार बनाया और उनके खाते से 6.29 लाख रुपए निकाल लिए। महिलाओं के मोबाइल पर रुपए निकाले जाने का मैसेज आया, तो उन्हें पता चला। बावजूद इसके ठगों ने रुपए खाते में वापस जाने का झांसा दिया। मामला तेलीबांधा और भाटागांव क्षेत्र का है।

तेलीबांधा : घर बैठे ऑनलाइन एकाउंट जानने का दिया झांसा
जानकारी के मुताबिक, तेलीबांधा निवासी सीमा सिंह अपने बैंक एकाउंट की डिटेल जानना चाहती थीं। इसके लिए उन्होंने 1 सितंबर को गूगल पर एक्सिस बैंक का नंबर सर्च कर कॉल किया। कॉल नहीं लगा। थोड़ी देर बाद उनके नंबर एक कॉल आई। खुद को बैंक कर्मचारी बताया और एकाउंट डिटेल जानने के लिए ऑनलाइन सेवा शुरू करने की बात कही। साथ ही कहा कि इसके बाद घर बैठे डिटेल ले सकेंगे।

सेवा शुरू करने फार्म भरवाया, एटीएम नंबर व एकाउंट की जानकारी ली
इसके लिए ठग ने सीमा सिंह को एक फार्म भेजा, जिसमें डेबिट कार्ड व बैंक एकाउंट नंबर की जानकारी मांगी गई थी। सीमा ने फार्म भरकर लौटा दिया और एक माह का स्टेटमेंट देने को कहा। सीमा के पास एक ओटीपी आया। ठग ने महिला का फोन 49 रुपए से रिचार्ज किया। सीमा ने इसका कारण पूछा तो कोरोना के चलते खाता वेरीफिकेशन की बात कही। बताया कि 5 मिनट में ऑनलाइन बैकिंग शुरू हो जाएगी।

लेकिन ठगों ने पैसे निकाल लिए बैंक ऑफ बड़ौदा से
कुछ समय बाद महिला के बैंक आफ बड़ौदा एकाउंट से 50 हजार रुपए निकल गए। इस पर महिला ने कारण पूछा तो ठग बोला कि मोबाइल में जो भी बैंक नेट बैकिंग से कनेक्ट होगा उससे वेरीफिकेशन करेगा। आपका पैसा 5 मिनट में वापस खाते में आ जाएगा, लेकिन रुपए नहीं आए। इसके अगले ही दिन 50-50 हजार और 20 हजार रुपए चार बार में खाते से और निकाल लिए गए।

भाटागांव : एटीएम का पासवर्ड बदल दिया, फिर भी चार बार में निकल गए 2.09 लाख
दूसरी घटना भाटागांव की है। यहां रहने वाली 54 साल की आशा कुजूर के पास 15 जुलाई की शाम 5 बजे एक व्यक्ति ने कॉल किया। कॉल करने वाले ने खुद को पेंशन ऑफिस में होना बताया। साथ ही महिला के खाता नंबर और डेबिट कार्ड नंबर की जानकारी दी। फिर वेरीफिकेशन की बात कहते हुए मोबाइल पर आए ओटीपी के बारे में पूछा। उसकी बातों में आकर आशा ने ओटीपी बता दिया।

इसकी जानकारी आशा कुजूर ने बैंक को दी थी। इसके बाद बैंक की ओर से उनको एटीएम का पासवर्ड बदलने की सलाह दी गई। आशा ने सलाह मानते हुए अपने एटीएम का पासवर्ड भी चेंज कर दिया। करीब डेढ़ माह बाद एक सितंबर को अचानक आशा कुजूर के एसबीआई के एकाउंट से किसी ने चार बार में 2.09 लाख रुपए निकाल लिए। इसके बाद पुरानी बस्ती थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यपुर में फिर ऑनलाइन ठगी हो गई। इस बार शातिर बदमाशों ने दो महिलाओं को शिकार बनाया और उनके खाते से 6.29 लाख रुपए निकाल लिए। (प्रतीकात्मक फोटो)


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Z7o6hB

0 komentar