राजधानी में 7 अस्पताल-सेंटरों में कोरोना टेस्ट फ्री, 9 निजी अस्पताल और 6 लैब ने भी शुरू की जांच , September 02, 2020 at 05:26AM

राजधानी में कोरोना टेस्ट के नाम पर बड़ी आबादी परेशान है और बड़े संस्थानों में टेस्ट करवाने वालों की भीड़ लग रही है। लेकिन टेस्ट के लिए किसी को भी परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि शहर में इसकी सुविधाएं काफी बढ़ गई हैं। यहां एम्स, अंबेडकर अस्पताल और जिला अस्पताल के अलावा 7 और सेंटर हैं, जहां कोरोना टेस्ट फ्री किया जा रहा है। इनमें से कुछ सेंटरों में तो भीड़ इतनी कम होती है कि जाकर टेस्ट करवाने और एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट लेने में बमुश्किल एक घंटा ही लग रहा है। अगर शुल्क देकर जांच करवानी हो तो रायपुर के 9 निजी अस्पतालों और 6 प्रयोगशालाओं (लैब) में भी कोरोना जांच शुरू कर दी गई है। सरकारी और इनमें फर्क इतना है कि जांच के लिए एक से ढाई हजार रुपए तक शुल्क देना होगा।
राजधानी में कोरोना संक्रमण फैलन के कारण हल्के लक्षण वाले टेस्ट करवाना चाहतेे हैं। इसलिए वे एम्स, अंबेडकर अस्पताल और जिला अस्पताल जा रहे हैं। ऐसे में इन अस्पतालों में भारी भीड़ लग रही है और कई लोगों के तो यहीं संक्रमित होने का खतरा बढ़ रहा है।
जबकि मुफ्त कोरोना टेस्ट की सुविधा इन अस्पतालों के अलावा टीबी सेंटर कालीबाड़ी, बिरगांव, शंकरनगर और खोखोपारा में भी है। यहां भी सैंपल लिए जा रहे हैं और एंटीजन टेस्ट रिपोर्ट भी आधा घंटे में दी जा रही है, वह भी मुफ्त। केवल एम्स व नेहरू मेडिकल कॉलेज में ही आरटीपीसीआर किट से जांच हो रही है। बाकी जगहों पर एंटीजन किट से जांच हो रही है, और रिपोर्ट आधे घंटे में आ जाती है।

आरटीपीसीआर ढाई हजार में
निजी अस्पतालों में एंटीजन के लिए एक से दो हजार रुपए, आरटीपीसीआर के लिए ढाई हजार निर्धारित है। श्री नारायणा के डायरेक्टर डॉ. सुनील खेमका व श्री बालाजी अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. देेवेंद्र नायक ने बताया कि शुल्क भी वही ले रहे हैं, जो शासन ने तय किया था।

अंबेडकर में स्टाफ का टेेस्ट
अंबेडकर में अब सामान्य लोगों का नहीं बल्कि केवल स्टाफ का सैंपल लिया जा रहा है। प्रबंधन का कहना है कि शहर में कई स्थानों पर सैंपल देने की सुविधा है, इसलिए ऐसा किया जा रहा है। हालांकि प्रबंधन की लापरवाही के कारण रोज 10 से 15 लोग बिना सैंपल दिए लौट रहे हैं।

निजी अस्पतालों में एंटीजन
रायपुर के एनएच एमएमआई, बालको मेडिकल सेंटर व रायगढ़ के ओपी जिंदल अस्पताल को ट्रू-नाॅट टेस्ट की अनुमति दी गई है। रायपुर में रामकृष्ण केयर, एमएमआई, रामकृष्ण केयर, श्री नारायणा, श्री बालाजी, मेडिशाइन व वी-केयर अस्पताल एंटीजन जांच हो रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कोरोना टेस्ट सेंटरों की जानकारी कम, इसलिए कालीबाड़ी अस्पताल में ऐसी भीड़।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/31OImq3

0 komentar