स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों-कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त; ड्यूटी से गायब रहने पर 70 से ज्यादा टीचरों को नोटिस , September 09, 2020 at 11:37AM

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते लगातार बढ़ते जा रहे हैं। इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने सभी स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों की छुटि्टयों को निरस्त कर दिया है। साथ ही अक्टूबर तक उनके छुट्टी लेने और मुख्यालय छोड़ने पर भी रोक लगा दी गई है। इस संबंध में कलेक्टर ने आदेश जारी कर दिया है।

आदेश में कहा गया है कि बहुत जरूरी काम होने पर ही कलेक्टर से अनुमति के बाद ही छुट्टी ले सकेंगे। हालांकि इसके लिए कारण सहित कार्यालय प्रमुख की अनुशंसा भी जरूरी होगी। आदेश में यह भी कहा गया है कि कोविड रोकथाम और उपचार के लिए शॉट नोटिस पर भी ड्यूटी पर बुलाया जा सकता है।

इंसिडेंट कमांडर से उपस्थिति पत्रक के बिना नहीं मिलेगा वेतन
वहीं कलेक्टर के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी ने 70 से अधिक शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। बताया जा रहा है कि इन शिक्षकों की क्वारैंटाइन सेंटर और कोविड में ड्यूटी लगाई गई थी, लेकिन ये वहां गायब थे। साथ ही यह भी कहा गया है कि इंसिडेंट कमांडर से उपस्थिति पत्रक लिए बिना कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जाएगा।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर भी हो सकेगी कोरोना की जांच
कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में भी कोरोना जांच कराने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए रोज 22 हजार सैंपल कलेक्शन का लक्ष्य रखा है। इस संबंध में सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारियों को परिपत्र जारी किया गया है। सभी पीएचसी में रैपिड एंटी जन किट से जांच के भी निर्देश दिए हैं।

रायपुर में रोज 2440 सैंपल कलेक्शन और जांच का लक्ष्य

जिला सैंपल कलेक्शन का लक्ष्य जिला सैंपल कलेक्शन का लक्ष्य
रायपुर 2440 कोंडागांव 605
गरियाबंद 500 दंतेवाड़ा 590
धमतरी 630 सुकमा 490
महासमुंद 630 नारायणपुर 480
कबीरधाम 630 बीजापुर 410
बालोद 630 सूरजपुर 530
दुर्ग 1510 बलरामपुर 530
बेमेतरा 580 कोरिया 570
बलौदाबाजार-भाटापारा 670 गौरेला-पेंड्रा-मरवाही 350
रायगढ़ 280 मुंगेली 600
कोरबा 970 कांकेर 605
जांजगीर-चांपा 970 बिलासपुर 1540
जशपुर 500 राजनांदगांव 1340
बस्तर 605 सरगुजा 940

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री बघेल को लिखा पत्र
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर स्मार्ट कार्ड योजना शुरू करने और आयुष्मान भारत योजना शुरू किए जाने की मांग की है। साय ने अपने पत्र में लिखा है कि पूर्ववर्ती सरकार की महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सुविधाओं से जुड़ी योजनाओं पर रोक लगा दी गई है, जो इस कोरोना संकट में जनता को बड़ी राहत दे सकती है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
ये तस्वीर रायपुर के गुढ़ियारी कोटा रोड स्थित बैकुंठ धाम श्मशान घाट की है। स्वच्छता के लिए पूरे प्रदेश में पहचान बनाने वाला यह श्मशान घाट कोरोना के चलते गंदगी के ढेर में बदलता जा रहा है7 संक्रमित मरीजों के अंतिम संस्कार के बाद उनका सारा सामान यहीं पर छोड़ जा रहे हैं। ऐसे में जहां गंदगी फैल रही है, वहीं संक्रमण का खतरा भी बढ़ गया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3h9LQb7

0 komentar