नानी ने अपने बैंक खाते से पैसे निकाले तो नाती ने हत्या कर लाश छिपाई, 8 दिन बाद मिला कंकाल , September 20, 2020 at 05:53AM

गौरेला थाना क्षेत्र में नानी द्वारा अपने खाते से पैसे निकालकर उपयोग कर लिए गए। इसकी जानकारी नाती को हुई कि खाते में सिर्फ 39 रुपये बचे हैं तो गुस्से में गमछे से गला दबाकर नानी की हत्या कर दी और लाश को रतनजोत प्लॉट की झाड़ियों में छिपा दिया।
8 दिन बाद ग्रामीणों ने झाड़ियों में पड़े कंकाल को देखा। इस पर साड़ी से लाश की शिनाख्ती होने के बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हत्या का खुलासा हुआ। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। ग्राम मेडुका निवासी कौशल्या बाई ने 18 सितम्बर को थाने में रिपोर्ट की थी। इसमें बताया कि उसकी नानी सास ललिया बाई काशीपुरी 10 सितंबर की सुबह 7 बजे घर से खेत देखने की बात कहकर निकली थी। इसके बाद देर रात तक घर वापस नहीं आई। इसकी जानकारी उसने नाना ससुर चंदन काशीपुरी को और गांव के अन्य रिश्तेदारों को बताई। जिसके बाद लोगों ने आसपास रिश्तेदारी में उनकी खोजबीन की, लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। वहीं
18 सितंबर की सुबह कोटवार ने घर पहुंचकर बताया कि रेंजराभार रतनजोत प्लाट में कंकाल मिला है। जिसकी साड़ी ललिया बाई जैसी पहनती थी, उसी तरह की है। इस पर उसने परिवार सहित प्लाट में जाकर देखा। जहां साड़ी, कपड़े, चूड़ी, चप्पल देखकर पहचाना की यह नानी सास ललिया बाई का कंकाल है। इसके बाद पुलिस ने पंचनामा कर पूछताछ के बाद जांच शुरू की।

खाते में सिर्फ 39 रुपए देख गुस्से में कर दी थी नानी की हत्या
पूछताछ में आरोपी ने बताया कि 10 सितंबर को खेत देखने के बाद वह नानी को साइकिल से कियोस्क बैंक लालपुर ले गया था। जहां रुपयों की जरूरत होने के कारण उसने नानी के खाते में राशि की जांच करायी तो उसके खाते में मात्र 39 रुपए थे। सब पैसे खाते से निकाल लेने के गुस्से में उसे घर ले जाते समय रेंजराभार के रतनजोत प्लाट में गमछे से गला दबाकर हत्या कर दी। जबकि झाड़ियों में लाश छिपा कर उस दिन से खुद छिपकर रह रहा था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ गला दबाकर हत्या करने का खुलासा
थाना प्रभारी ने एसपी सूरज सिंह परिहार को सूचना दी और मामले को संदेहास्पद बताया। इसके बाद एसपी के निर्देश पर शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इसमें पोस्टमार्टम रिपोर्ट में डॉक्टर ने मृत्यु का कारण गला दबाना बताया। पुलिस ने मामले में धारा 302, 201 का अपराध कायम कर जांच प्रारंभ की। तो पता चला कि घटना के दिन से ही मृतका का नाती राज कुमार उर्फ अमृत लाल गायब था। जिसे पकड़कर कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त गमछा और साइकिल आरोपी से बरामद कर ली है। आरोपी राजकुमार उर्फ अमृतलाल पिता गुलाब पनिका 40 साल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Granddaughter took money out of her bank account, then grandson killed and hid the corpse, skeleton found after 8 days


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3cgZJUb

0 komentar