कोविड पॉजिटिव एएसआई का गार्ड ऑफ ऑनर के साथ अंतिम संस्कार किया; संक्रमण बढ़ा, इसलिए सदर बाजार की गलियां सील , September 06, 2020 at 01:39PM

रविवार को रायपुर के मारवाड़ी श्मशान घाट में कोरोना संक्रमित एएसआई का अंतिम संस्कार किया गया। पुलिस विभाग के मुताबिक, एएसआई कोरोना के खिलाफ जंग में लगातार ड्यूटी कर रहे थे। नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस महकमे के अधिकारियों ने गार्ड ऑफ ऑनर के साथ सलामी दी। एएसआई के बेटे ने पीपीई किट पहनकर उन्हें मुखाग्नि दी।

फोटो रायपुर की है। एएसअाई के भाई भी पुलिस सेवा में हैं, पीपीई किट पहने परिजन दूर से ही मृत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते रहे।
फोटो रायपुर की है। एएसआई के भाई भी पुलिस सेवा में हैं। पीपीई किट पहने परिजन दूर से ही मृत आत्मा की शांति की प्रार्थना करते रहे।

एएसआई कबीर नगर में पदस्थ थे। पिछले दिनों ड्यूटी पर रहते हुए वो संक्रमित पाए गए थे। उनका इलाज रायपुर के अस्पताल में चल रहा था। शनिवार को उनकी तबीयत बिगड़ने की वजह से मौत हो गई। बीते 24 घंटे में आंकड़ों के मुताबिक, 19 कोरोना संक्रमितों की मौत हुई इनमें 10 मौतें सिर्फ रायपुर के ही लोगों की हुई। रायपुर में शनिवार देर रात तक 878 संक्रमित एक ही दिन में मिले।

गलियां सील

फोटो सदर बाजार इलाके की है। लगभग सभी प्रमुख रास्ते बंद कर दिए गए हैं, लॉकडाउन जैसे हालात यहां कुछ दिनों तक रहेंगे।
फोटो सदर बाजार इलाके की है। लगभग सभी प्रमुख रास्ते बंद कर दिए गए हैं। लॉकडाउन जैसे हालात यहां कुछ दिनों तक रहेंगे।

रायपुर शहर से अब प्रदेश में हर दिन सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। बीती रात शहर के सदर बाजार की गलियों को सील कर दिया गया है। दो दर्जन से ज्यादा दुकानों को खोलने की अनुमति नहीं होगी। नगर निगम और जिला प्रशासन की टीम ने हर्ष ज्वेलर्स, सदर बाजार कार्नर से सुरेश ज्वेलर्स, गोल बाजार काॅर्नर तक, महावीर अशोक ज्वेलर्स से मुक्कड़ कार्नर तक, बसंत ज्वेलर्स से आकांक्षा कलेक्शन तक हलवाई लाईन की गलियों को बंद कर दिया है। बांस से बैरीकेड बनाकर रास्ते बंद कर दिए गए हैं।

कलेक्टर का फरमान जानकारी छुपाई तो खैर नहीं
कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव पाए गए व्यक्तियों के कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करने पर उनके प्राइमरी और सेकेंडरी कॉन्टेक्ट की कोविड-19 जांच जरूरी है। हाई रिस्क कॉन्टेक्ट की कोविड-19 जांच 12 घंटे के भीतर करनी होगी। कोविड-19 जांच के सैम्पल लेने के दौरान कुछ लोग गलत अथवा अपूर्ण मोबाइल नंबर या पता देते हैं, कुछ लोग मोबाइल बंद कर लेते हैं। अब ऐसे लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें जेल भेजा जाएगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
आखिरी सैल्यूट...। फोटो रायपुर की है। एएसआई के अंतिम संस्कार के वक्त मौजूद प्रशासनिक अधिकारी भी खुद को पुलिस जवानों की तरह सैल्यूट करने से रोक नहीं पाए।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2QZC40B

0 komentar