ऑक्सीजोन में औषधीय पौधे, स्मार्ट सड़क और नया प्लाजा बनाएगा स्मार्ट सिटी , September 06, 2020 at 06:39AM

स्मार्ट सिटी अब ऑक्सीजोन की स्मार्टनेस को बढा़एगा। 23 करोड़ की मल्टीलेवल पार्किंग का काम यहां पहले ही चल रहा था। इसके अलावा ऑक्सीजोन के बगल से स्मार्ट रोड़ और खालसा स्कूल के सामने से एंट्री प्वाइंट पर प्लाजा बनाने का काम भी शुरु हो चुका है। ऑक्सीजोन के बगल से गुजरने वाली रोड उन नौ सड़कों में है, जिसके लिए स्मार्ट सिटी ने 37 करोड़ का प्लान हाल ही में जनप्रतिनिधियों की सलाहकार समिति के जरिए मंजूर करवाया है। हालांकि यहां की स्मार्ट सड़क का काम पहले ही शुरु हो गया था। जबकि एंट्री गेट प्लाजा का काम लॉकडाउन के कारण रुका था। अब तीनों काम एक साथ शुरु किए गए हैं। ऑक्सीजोन के तीसरे फेस में अब औषधीय पेड़-पौधे भी लगाए जा रहे हैं।
कलेक्टोरेट परिसर के पास बने ऑक्सीजोन की अप्रोच रोड को व्यवस्थित रूप देने के लिए यहां करीब तीन करोड़ की लागत में स्मार्ट रोड बन रही है। जबकि खालसा स्कूल के सामने से मल्टीलेवल पार्किंग तक के पूरे क्षेत्र को स्मार्ट सिटी व्यवस्थित स्वरूप देने के लिए 80 लाख रुपए का ऑक्सीजोन एंट्री प्लाजा बना रहा है। मल्टीलेवल पार्किंग तक पूरी सड़क में सौंदर्यीकरण के साथ जनसुविधाओं से जुड़ी चीजें जैसे टॉयलेट बैंच आदि भी बनाए जाएंगे। सड़क के दोनों किनारे पर पेवर ब्लॉक और हरी घास भी लगाई जाएगी। ऑक्सीजोन का ये हिस्सा पहले ही बनकर तैयार हो चुका है।

मूसली, अश्वगंधा जैसे पौधे लगेंगे
ऑक्सीजोन के दो फेस का काम पूरा होने के बाद अब तीसरे चरण में औषधीय उद्यान भी डेवलप हो रहा है। इसके तहत यहां औषधीय गुणों वाले पेड़ पौधे का दायरा बढाया जा रहा है। इनमें काली मूसली, अश्वगंधा, वैजयंती, कुसुम, गुडहल जैसे पेड़-पौधे शामिल हैं। फिलहाल यहां 56 प्रजातियों के 3653 से ज्यादा पेड़ -पौधे हैं। ऑक्सीजोन की नोडल एजेंसी वन विकास निगम के अधिकारी आरके गोवर्धन के मुताबिक ऑक्सीजोन शहर का पहला इकलौता ऐसा पब्लिक पार्क है, जिसमें औषधीय वाटिका थीम पर काम हो रहा है।

सुविधाएं बढा़ने पर फोकस
:"ऑक्सीजोन शहर के लिए फिटनेस के लिहाज से मुख्य आकर्षण का केंद्र है। यहां स्मार्ट सिटी अब और सुविधाएं बढा़ने पर फोकस कर रहा है।"
-एसके सुंदरानी, जीएम, स्मार्ट सिटी



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3lVipNG

0 komentar