बस के ड्राइवर-कंडक्टर से अवैध वसूली, नहीं देने पर मारपीट; ट्रैफिक पुलिस के सस्पेंड कांस्टेबल के साथ सामने आया वीडियो , September 08, 2020 at 10:06AM

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पुलिस और बदमाशों के गठजोड़ का एक वीडियो सामने आया है। इसमें बस ड्राइवर से ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल के साथ मिलकर एक बदमाश वसूली करते दिखाई दे रहा है। नहीं देने पर ड्राइवर को बुरी तरह से पीटा जाता है। वीडियो वायरल होने के बाद बदमाश को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं सिपाही के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं।

वीडियो वायरल होने के बाद एसएसपी अजय यादव के आदेश पर बदमाश को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं सिपाही के खिलाफ विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं।

दरअसल, शनिवार को एक वीडियो सामने आया था। इसमें दो लोग एक बस चालक से रुपए नहीं देने पर मारपीट करते दिखाई दे रहे थे। इसमें एक को महासमुंद का निगरानी बदमाश पप्पू सिंह ठाकुर और दूसरे को ट्रैफिक पुलिस का निलंबित सिपाही शिव भदौरिया बताया गया था। हालांकि वीडियो सामने आने के बाद भी इस बात भी पुलिस इसको लेकर पुष्टि नहीं कर रही थी।

एसएसपी के पास पहुंचा वीडियो तो दिए जांच के आदेश
इसके बाद जब वीडियो एसएसपी अजय यादव के पास पहुंचा तो उन्होंने मामले की जांच के आदेश दे दिए। इस पर पता चला कि वीडियो सही है और शुक्रवार रात मंदिर हसौद क्षेत्र का है। जहां बाहर से आने वाले बस चालकों से 10-10 हजार रुपए वसूले जा रहे थे। नहीं देने पर उनके साथ मारपीट की जाती। वीडियो में भी एक बस चालक को बुरी तरह से पीटते हुए दिखाई दे रहा है।

चाकू दिखाकर ग्रामीण को धमकाते धरा गया बदमाश
इस बीच सोमवार रात पुलिस को सूचना मिली कि बदमाश पप्पू ठाकुर एक ग्रामीण को चाकू दिखाकर धमका रहा है। पुलिस ने छापा मारकर उसे पकड़ लिया। तलाशी के दौरान उसके पास से अवैध शराब मिली है। पुलिस ने बताया कि महासमुंद का परमेश्वर उर्फ पप्पू ठाकुर बस वालों को रोककर वसूली करता और चाकू दिखाकर धमकता था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में पुलिस और बदमाशों के गठजोड़ का एक वीडियो सामने आया है। इसमें बस ड्राइवर से ट्रैफिक पुलिस कांस्टेबल के साथ मिलकर एक बदमाश वसूली करते दिखाई दे रहा है। नहीं देने पर ड्राइवर को बुरी तरह से पीटा जाता है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3jU06qk

0 komentar